देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने काफी तबाही मचाई है, लेकिन अब तीसरी लहर के आने भी आशंका बढ़ गई है। खास तौ पर कोविड के नए वेरिएंट डेल्टा प्लस ने मुश्किलें बढ़ा दी है। ये नया डेल्टा प्लस वेरिएंट बेहद तेजी से फैल रहा है और कई राज्यों में इसके मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक डेल्टा वेरिएंट अभी 9 देशों में पाया गया है और भारत में अब तक महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश में इसके 22 मामले मिले हैं। इन प्रदेशों के लिए एडवाइजरी जारी कर दी गई है।

इस बीच एम्स दिल्ली में बायोकेमेस्ट्री विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. शुभ्रदीप कर्माकर ने इस बात की पुष्टि की है कि ये नया डेल्टा प्लस वेरिएंट ज्यादा संक्रामक है। डॉक्टर के मुताबिक इसमें एक एडिशनल म्यूटेंट है, जो इसे ज्यादा खतरनाक और संक्रामक बना देता है।

प्रभावी होगा वैक्सीन?

डॉक्टर कर्माकर ने कहा कि अभी इस बात की ज्यादा जानकारी नहीं है कि शरीर में जाने के बाद ये वायरस किस तरह मरीज को प्रभावित करेगा। इसके पिछले वैरिएंट में मरीजों में बहुत तेजी से ऑक्सीजन की कमी हो जाती थी। लेकिन डेल्टा प्लस से मरीज के शरीर में किस तरह रिएक्शन होगा, और मरीज को किस तरह की परेशानी होगी, ये कहना मुश्किल है। इस वजह से इसे ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है और सावधान रहने की जरुरत है।

वैसे डॉ. कर्माकर के मुताबिक भारत सरकार जो वैक्सीन इस्तेमाल कर रही है वो बहुत प्रभावी है। उन्होंने कहा कि इससे बहुत सुरक्षा मिलती है। स्टडी में पाया गया है कि टीका लगाने से बीमारी की तीव्रता, अस्पताल में भर्ती होने और मृत्यु की संभावना बहुत कम हो जाती है।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags