केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, जम्मू और कश्मीर, ओडिशा और मिजोरम को पत्र लिखकर COVID-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही आवश्यक कदम उठाने के लिए लिखा है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने चिट्ठी लिखकर इन राज्‍यों में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई है। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट के खतरे को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने शनिवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 27 नवंबर को लिखे पत्र का हवाला देते हुए कहा कि पहले ही सलाह दी जा चुकी है कि सभी राज्‍य अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर कड़ी नजर रखें और कोरोना के उभरते नए हाटस्पाट क्षेत्रों पर नजर बनाए रखें। साथ ही संक्रमित यात्रियों के संपर्क में आए लोगों का तुरंत पता लगाएं। संक्रमित अंतरराष्‍ट्रीय यात्रियों के नमूनों को जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजने के लिए भी कहा जा चुका है।सरकार ने इन राज्‍यों के कुछ जिलों में संक्रमण के बढ़ते मामलों, साप्ताहिक संक्रमण दर और मृत्यु के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह दिशा-निर्देश दिए हैं।

गुजरात में कोरोना को लेकर अलर्ट

गुजरात के जामनगर में कोरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रान के संक्रमित की पुष्टि हुई है। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाकर गुजरात में कोरोना को लेकर अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए। बीते माह 28 नवंबर को जिंबाब्वे से जामनगर हाय 72 वर्षीय पुरुष का 30 नवंबर को टेस्ट किया गया था जो पॉजिटिव रहा। ओमीक्रोन की आशंका के चलते जीनोम सीक्वेंस टेस्ट के लिए उसके नमूने पुणे लैब को भेजे गए थे। जी नाम सिक्वेंस टेस्ट में इस व्यक्ति के ओमिक्रोन संक्रमित थाने की पुष्टि कर दी गई है। मुख्यमंत्री इसके बाद गांधीनगर में स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल, गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी समेत राज्य के उच्च अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की। मुख्यमंत्री ने टेस्टिंग ट्रेसिंग तथा ट्रीटमेंट 3टी पर जोर दिया है। राज्य के नागरिकों से भी मास्क, सैनिटाइजर एवं शारीरिक दूरी रखने जैसे नियमों का पालन करने की बात कही है। स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज अग्रवाल ने बताया कि 1 दिसंबर से अब तक हाई रिस्क वाले 11 देशों समेत अन्य देशों से आने वाले करीब साढ़े चार हजार विदेशी यात्रियों का टेस्ट किया गया।

Posted By: Navodit Saktawat