श्रीनगर। मंगलवार को कश्मीर घाटी में कई स्कूल तीन माह तक बंद रहने के बाद पहली बार खुले। वहीं हालिया बर्फबारी के बाद बंद दुकानें भी पूरे दिन के लिए खुलीं। इन बातों से संकेत मिल रहा है कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर तेजी से सामान्य स्थिति में लौट रहा है।

10 से 1 बजे तक खुले स्कूल

अधिकारियों ने बताया कि कई निजी स्कूलों के संचालकों ने मंगलवार से कक्षाएं लगाना शुरू कीं। लोक परिवहन बहाल होने वे जनजीवन तेजी से सामान्य होने के कारण यह कदम उठाया गया। प्रबंधन ने स्कूलों को फिलहाल सुबह 10 से दोपहर एक बजे तक ही खुला रखने का फैसला किया है। विद्यार्थियों को बगैर यूनिफॉर्म के आने को कहा गया।

पहली बार दिनभर के लिए खुलीं दुकानें

पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पहली बार दुकानें दिनभर के लिए खुलीं। इससे पहले राज्य में आतंकियों की धमकी से अघोषित बंद के कारण अधिकांश दुकानें बंद रहा करती थी। बीते सप्ताह कश्मीर में बर्फबारी दुकानें व अन्य व्यावसायिक संस्थान फिर खुलने में विलंब हुआ।

2008, 2010 व 2016 में महीनों बंद रहा था कश्मीर

श्रीनगर के नोपारा इलाके के दुकानदार मुजफ्फर अहमद ने बताया कि 2008, 2010 व 2016 में हुए आंदोलनों के कारण महीनों तक दुकानें बंद रही थीं। पृथकतावादी नेता 'विरोध कैलेंडर जारी करते थे। उस दौरान लोगों से सरकार के आदेशों की अवहेलना करने को कहते हुए दुकानें बंद व चालू रखने का अलग समय तय किया जाता था।

जम्मू-पुंछ हाईवे पर शक्तिशाली आईईडी मिला, बड़ा हादसा टला

इस बीच जम्मू-पुंछ नेशनल हाईवे पर शक्तिशाली आईईडी बरामद किया गया। इससे बड़ा हादसा टल गया। संभवत: आतंकियों से इसे सेना के गश्ती दल को निशाना बनाने के लिए लगाया था। पुंछ के ही सुरनकोट के जंगलों में सुरक्षा बलों ने तलाशी के दौरान आतंकियों के एक सुरक्षित ठिकाने का पता लगाकर उसे नष्ट कर दिया। वहां से सात आईईडी, एक गैस सिलेंडर व एक वायरलेस सेट मिला है। हालांकि मौके से किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया।

Posted By: Navodit Saktawat