Ayodhya Verdict 2019 Live Update: अयोध्या केस में फैसले की घड़ी आ गई है। चंद घंटों बाद रामजन्मभूमि - बाबरी मस्जिद केस पर फैसला आ जा जाएगा। शनिवार सुबह 10.30 बजे सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की संवैधानिक पीठ फैसला सुनाएगी। इस बीच, उत्तर प्रदेश समेत पूरे देश में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। रात में ही अयोध्या में धारा 144 लगा दी गई। लखनऊ, कानपुर, मुरादाबाद, इलाहाबाद, अलीगढ़ समेत कई शहरों में फ्लैगमार्च किया गया। ड्रोन से अयोध्या में नजर रखी जा रही है। इसके अलावा किसी भी संभावित आपात स्थिति से निपटने के लिए अयोध्या और लखनऊ में दो हेलिकॉप्टर को स्टैंडबाय मोड पर रखा गया है। पढ़िए यूपी के शहरों का अपडेट -

यूपी के अलीगढ़ में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। इसके बाद राजस्थान के जयपुर कमिश्नरेट में सुबर 10 बजे से 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। यूपी-नेपाल सीमा पर भी इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है।

एडीजी पुलिस आशुतोष पाण्डेय ने कहा- श्रद्धालु राम मंदिर का दर्शन कर रहे हैं। मंदिर में जाने के लिए किसी तरह के प्रतिबंध नहीं लगाए गए हैं। सभी बाजार खुले हुए हैं और पूरी तरह से समान्य स्थिति बनी हुई है। इसके साथ ही पैरामिलिट्री, आरपीएफ और पीएसी की 60 कंपनियों को तैनात किया गया है। इलाके में 1200 कॉन्सटेबल, 250 सब-इंस्पेक्टर, 20 डिप्टी एसपी और दो एसपी स्तर के अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद करने के लिए मुस्तैद हैं। दो स्तरीय बैरिकेटिंग, 35 सीसीटीवी और 10 ड्रोन के साथ सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखी जा रही है।

दिल्ली के ज्वाइंट सीपी आईडी शुक्ला ने कहा- अयोध्या फैसले से पहले अर्द्धसैनिक बलों के साथ दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के उपयुक्त कदम उठाए हैं। किसी भी अप्रिय घटना के होने का सवाल ही पैदा नहीं होता फिर चाहे सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट की सुरक्षा का मामला हो या किसी वीआईपी या वीवीआईपी की सुरक्षा का मामला हो, इसका उल्लंघन नहीं हो सकता है।

अयोध्या के डीएम अनुज झा ने कहा कि लोग शांति और सौहार्द बनाए रखें। अभी तक कहीं से कोई निगेटिव अपडेट नहीं है। विवादित स्थल को सुरक्षित रखना हमारी प्राथमिकता है और इसके लिए हमने उपयुक्त कदम उठाए हैं। वहीं, यूपी के डीजीपी ने कहा कि अयोध्या में पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात कर दिया गया है। ड्रोन से नजर रखी जा रही है। खुफिया मशीनरी को मुस्तैद कर दिया गया है, औचक जांच और तलाशी ली जा रही है।एडीजी रैंक के एक अधिकारी को पूरे घटनाक्रम पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया है।

अयोध्या पूरी तरह से सामान्य है। यहां चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा जरूर है, लेकिन लोग आम दिनों की तरह आ जा रहे हैं। कोई मंदिर जा रहा है तो कोई जरूरी सामान खरीदने जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में 9 नवंबर से लेकर 11 नवंबर तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे। केस से जुड़े सभी पक्ष शांति की अपील कर रहे हैं। सरकार, पुलिस और तमान सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देर रात तक हाईलेवल बैठकें करते रहे। वे खुद सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखेंगे।

अयोध्या में 4000 अर्धसैनिक बल तैनात किया गया है। यहां से पूरे देश में शांति की अपील की जा रही है। मुस्लिम पक्ष का कहना है कि अयोध्या ने पूरे देश के अमन और चैन का पैगाम दिया है। उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह के अनुसार, उनकी पैनी नजर है। सोशल मीडिया पर भी नजर रखी जा रही है। यदि कोई भड़काऊ टिप्पणी करता है तो उसके खिलाफ तत्काल सख्त कार्रवाई की जाएगी।

- इस बीच, सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी दोषियों को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। योगी ने शांति बनाए रखने की अपील भी की है। योदी आदित्यनाथ ने शनिवार देर रात ट्वीट किया।

- शिवसेना की राजनीति जारी: शिवसेना ने प्रेस नोट जारी कह कहा है कि हमने सरकार से राम मंदिर के निर्माण पर कानून बनाने का अनुरोध किया था लेकिन सरकार ने ऐसा नहीं किया। अब जब SC आदेश दे रहा है, तो सरकार इसका श्रेय नहीं ले सकती।

- पंजाब में कानून-व्यवस्था का जायजा: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इसके साथ ही अधिकारियों को हाई-अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है।

- यूपी और राजस्थान में धारा 144 लागू: उत्तर प्रदेश और राजस्थान में धारा 144 लागू कर दी गई है। लिहाजा चार या चार से अधिक लोग एक जगह पर जमा नहीं हो सकते हैं। राजस्थान के जैसलमेर में 30 नवंबर 2019 तक के लिए यह धारा लागू रहेगी। इसके अलावा कर्नाटक में भी धारा 144 लागू किए जाने के साथ ही ट्विन सिटी के नाम से मशहूर हुब्बली धारवाड़ में शराब की ब्रिक्री भी बंद कर दी गई है।

ओडिशा के मुख्मयमंत्री नवीन पटनायक ने अयोध्या के फैसले से पहले नागरिकों से अपील की है कि सभी लोग माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करे। हम शांति और सद्भावना के साथ रहें। भाईचारे की भावना हमारे सामाजिक ताने-बाने की पहचान है।

Posted By: Arvind Dubey