नई दिल्ली। Corona virus का असर अब दूसरे क्षेत्रों में भी दिखाई देने लगा है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार चीन से सप्लाई में दिक्कत होने के कारण भारत में Paracetamol दवाओं की कीमत 40 फीसद बढ़ गई है। इसके साथ ही बैक्टीरिया इंफेक्शन के इलाज में उपयोग में आने वाली एंटीबायोटिक एजिथ्रोमाइसिन की कीमतें 70 फीसद तक बढ़ गई हैं। आने वाले समय में कच्चे माल की सप्लाई में और कमी आने की संभावना जताई जा रही है।

चीन में फैले Corona virus का असर देश के जेनरिक दवा बाजार पर पड़ा है। जेनरिक दवाओं के दाम में 50 फीसद तक इजाफा हुआ हैं। जिन दवाओं के दाम में वृद्धि हुई है उनमें अधिकतर एंटीबायोटिक्स और पेनकिलर हैं। देश में फिलहाल 500 से ज्यादा जेनरिक दवा बनाने वाली कंपनियां हैं। सभी कंपनियां ज्यादातर एक्टिव कच्चा माल चीन से आयात करती हैं। चीन में फैले कोरोना वायरस के कारण भारत में जेनरिक दवाओं के लिए कच्चे माल की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। इससे जेनरिक दवा निर्माता कंपनियां दवाइयों के दाम में इजाफा कर रही हैं। कुछ दवाओं का अभाव भी होने लगा है।

इसका असर ये हुआ कि कई जेनरिक दवाएं मरीजों को नहीं मिल पा रही हैं। Corona virus के संक्रमण के कारण चीन में फैक्ट्रियां अनिश्चितकाल के लिए बंद है। जेनेरिक दवाओं की आपूर्ति के मामले में भारत एक बड़ा बाजार है। भारत जेनेरिक दवाओं के 80 फीसद तक माल का चीन से आयात करता है। Corona virus का असर 33 प्रकार की दवाओं पर पड़ा है। इन दवाओं के दाम पहले के मुकाबले काफी बढ़ गए हैं।

Posted By: Yogendra Sharma