देश की राजधानी दिल्ली में बनने जा रहे नए थलसेना भवन का शुक्रवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह द्वारा भूमिपूजन किया गया। 7.5 लाख वर्गमीटर में बनने वाला थलसेना भवन के निर्माण में 5 साल का वक्त लगेगा। थलसेना भवन में ऑफिस कॉम्पलेक्स के साथ ही पार्किंग के भी खास इंतजाम किए जाएंगे। सेना को नए थलसेना भवन की दरकार थी, नए थलसेना भवन में 6 हजार से ज्यादा ऑफिस बनाए जाएंगे। यहां मिलिट्री के साथ ही सिविलियन के लिए भी दफ्तर होंगे।

6014 ऑफिस बनेंगे

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा शुक्रवार को नए थलसेना भवन का भूमिपूजन किया गया है। आर्मी के अधिकारियों ने बताया कि 'यह भवन लगभग 7.5 लाख स्क्वेयर मीटर के क्षेत्र में बनेगा और यह ऑफिस कॉम्प्लेक्स और पार्किंग के लिए होगा। इस भवन में कुल 6014 ऑफिस बनाए जाएंगे इसमें 1684 दफ्तर ऑफिसर्स के लिए होंगे, इसमें मिलिट्री और सिविलियन अफसर शामिल होंगे। बाकि के ऑफिस निचले स्टॉफ के लिए होंगे।'

आर्मी अधिकारियों ने बताया कि यहां कम से कम 2 लाख घंटे का स्किल्ड और अनस्किल्ड वर्क जनरेट होगा। इसके अलावा युवाओं के लिए जॉब जनरेट होंगे। इस भवन को 5 साल में बनाया जाना प्रस्तावित है।

Posted By: Neeraj Vyas