Republic Day 2022 Celebration: गणतंत्र दिवस का जश्न मनाने को लेकर केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है। मोदी सरकार ने अब गणतंत्र के जश्न के शुरुआत हर साल 23 जनवरी से करने का फैसला किया है। आपको बता दें कि अभी तक हर साल देश में गणतंत्र दिवस से संबंधित सभी रंगारंग कार्यक्रम व जश्न मनाने की शुरुआत 24 जनवरी से होती थी, लेकिन केंद्र सरकार ने 23 जनवरी से जश्न मनाने की शुरुआत करने का फैसला किया है। दरअसल 23 जनवरी को वीर स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की जयंती होती है, इसलिए अब देश में सुभाष चंद्र बोस की जयंती के दिन से गणतंत्र दिवस का जश्न मनाया जाएगा।

सुभाष चंद्र बोस जयंती

इससे पहले मोदी सरकार ने सुभाष चंद्र बोस की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाना शुरू किया था। मोदी सरकार ने साल 2014 में सत्ता में आने के बाद पराक्रम दिवस मनाने का ऐलान किया था। अब प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर बताया है कि 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाया जाएगा। जब से प्रधानमंत्री मोदी सत्ता में आए हैं, तब से अभी तक इन महत्वपूर्ण दिवस पर विशेष आयोजन का करने या महत्वपूर्ण दिवस मनाने का ऐलान कर चुकी है -

14 अगस्त - विभाजन भयानक स्मृति दिवस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अगस्त को 'भजन विभिषिका स्मृति दिवस' के रूप में मनाने की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री ने कहा था कि देश के बंटवारे के दर्द को कभी भुलाया नहीं जा सकता। नफरत और हिंसा के कारण देश के लाखों नागरिक विस्थापित हुए और अपनी जान भी गंवाई। उन लोगों के संघर्ष और बलिदान की याद में 14 अगस्त को 'भजन विभिषिका स्मृति दिवस' के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया।

31 अक्टूबर - राष्ट्रीय एकता दिवस (सरदार पटेल की जयंती)

राष्ट्रीय एकता दिवस हर साल 31 अक्टूबर को मनाया जाता है। दरअसल इस दिन सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है, जिनकी भारत के राजनीतिक एकीकरण में प्रमुख भूमिका थी। इस दिन की शुरुआत भारत सरकार द्वारा वर्ष 2014 में की गई थी।

15 नवंबर - आदिवासी गौरव दिवस (भगवान बिरसा मुंडा का जन्मदिन)

नरेद्र मोदी सरकार ने बिरसा मुंडा की जयंती 15 नवंबर को 'आदिवासी गौरव दिवस' के रूप में मनाने का निर्णल लिया है। जनजातीय लोगों की संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास का जश्न मनाने के लिए 15 से 22 नवंबर तक सप्ताह भर चलने वाले समारोहों की योजना बनाई गई थी।

26 नवंबर - संविधान दिवस

साल 2015 से देश में हर साल 26 नवंबर को 'संविधान दिवस' मनाने का निर्णय लिया था। इसके लिए 19 नवंबर 2015 को सामाजिक न्याय मंत्रालय द्वारा निर्णय लिया गया था। 26 नवंबर को राष्ट्रीय कानून दिवस के रूप में भी जाना जाता है।

26 दिसंबर - वीर बाल दिवस (4 साहिबजादों को श्रद्धांजलि)

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा 26 दिसंबर को 'वीर बाल दिवस' के रूप में मनाने की घोषणा, जिसका मुख्य उद्देश्य सिखों के 10वें गुरु गोविंद सिंह के पुत्रों को श्रद्धांजलि देना है।

Posted By: Arvind Dubey