Census 2021: केंद्र सरकार ने जनगणना की तैयारियां शुरू कर दी हैं। जनगणना के साथ ही NPR यानी नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर को अपडेट करने का काम भी होगा। जानकारी के मुताबिक, इसकी शुरुआत हरियाणा से होगी।हरियाणा और महाराष्ट्र में 2021 की जनगणना का पहला चरण 1 मई से 15 जून तक चलेगा। वहीं पंजाब में 15 मई से जनगणना की शुरुआत होगी जो 45 दिनों तक चलेगी। आधिकारिक बयान में कहा गया है कि हरियाणा में जनगणना और NPR के अपडेशन के लिए तैयारियों की समीक्षा कर ली गई है। शुक्रवार को हुई बैठक में हरियाणा के मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा के साथ भारत के रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्त विवेक जोशी भी मौजूद थे। जानिए कैस होगी यह जनगणना -

जनगणना आयुक्त विवेक जोशी के मुताबिक, नागरिकों से किसी तरह का दस्तावेज या फॉर्म करने को नहीं कहा जाएगा। जनगणना वाले कर्मचारी और अधिकारी सवाल पूछेंगे जिनका जवाब नागरिकों को देना होगा। ये सवाल भी पहले से तय होंगे और उनके अलावा किसी तरह का सवाल नहीं पूछा जाएगा।

विवेक जोशी ने भरोसा दिलाया कि नागरिकों का जो निजी डाटा जुटाया जाएगा, वह पूरी तरह से गोपनीय होगा। डाटा डिटिजल फॉर्मेट में जुटाया और स्टोर किया जाएगा। इसके लिए खासतौर पर ऐप तैयार करवाया गया है। यह पहला मौका होगा जनगणना की रियल टाइम निगरानी की जाएगी। यह काम निगरानी और प्रबंधन प्रणाली (सीएमएमएस) के माध्यम से होगा।

यह जनगणना का पहला राउंड है। इसके बाद दूसरा राउंड 9 फरवरी से 28 फरवरी 2021 तक होगा और रिविजन राउंड 1 से 5 मार्च 2021 तक रहेगा।

पूछे जाएंगे इस तरह के सवाल

  • कितने मकान हैं
  • घर में क्या-क्या सुविधाएं हैं
  • घर के मुखिया के नाम पर क्या-क्या सम्पत्ति है

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket