Subhash Chandra Bose Jayanti 2021 : महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125वें जन्मदिन से पहले केंद्र सरकार ने एक और बड़ा एलान किया है। अब उनके जन्मदिन 23 जनवरी को देश और दुनिया में हर साल पराक्रम दिवस के रूप में मनाया जाएगा। केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिह पटेल ने मंगलवार को नेताजी के जन्मदिन को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने के सरकार के फैसले की जानकारी दी। उन्होंने इस दौरान नेताजी के 125वें जन्मदिन 23 जनवरी को आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की जानकारी भी दी। मुख्य कार्यक्रम कोलकाता में होगा, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद शिरकत करेंगे। इसके अलावा कटक (उड़ीसा) में भी नेताजी के जन्मदिन पर एक भव्य कार्यक्रम आयोजित होगा। इसमें केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान शामिल होंगे। इसके साथ ही नेताजी से जुड़े सभी स्थानों पर भी कार्यक्रमों के आयोजन की रूपरेखा बनाई गई है। इनमें हरिपुरा (गुजरात) और त्रिपुरी (मध्य प्रदेश) में भी बड़े आयोजन किए जाएंगे। इससे पहले भी केंद्र सरकार ने उनके 125वें जन्मदिन को भव्य तरीके से और साल भर मनाने का फैसला लिया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में हाल ही में इसे लेकर 85 सदस्यीय एक उच्च स्तरीय कमेटी भी गठित की गई है। एक सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री पटेल ने कहा कि इस साल महर्षि अरविंंद का 150वां जन्मदिन और राजा राम मोहन राय का 250वां जन्मदिन भी पड़ रहा है। यह दोनों भी बंगाल से जुड़े हैं। सरकार का यह फैसला राजनीतिक हो या न हो, इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है कि नेताजी पश्चिम बंगाल के स्वाभिमान से जुड़े हैं। नेताजी से जुड़े दस्तावेज को भी मोदी सरकार के काल में ही सार्वजनिक किया गया था।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags