कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ते जा रहा है। महामारी की दूसरी लहर के बाद वैज्ञानिकों ने इसके तीसरी लहर की भी चेतावनी दे दी है। बढ़ते केस के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सभी सरकारी हॉस्पिटलों में कोविड बेड की संख्या बढ़ाने के साथ प्राइवेट अस्पतालों को सम्बद्ध किया है। ताकि गंभीर रूप से संक्रमितों को इलाज मिल सके। मेडिकल ऑक्सीजन होने के बाद अस्पतालों में मरीजों के इलाज नहीं होने का मामला सामने आया है। इस पर योगी सरकार ने सख्त कदम उठाया है। ऐसे हॉस्पिटलों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोविड संक्रमण के कहर को रोकने इंतजाम में लगे हुए हैं। मेडिकल ऑक्सीजन की कमी होने पर केंद्र सरकार की सहायता से अन्य प्रदेशों से भी रेलवे की मदद से ऑक्सीजन को लखनऊ सहित अन्य शहरों में उपलब्ध कराया जा रहा है। रेमडेसिविर इंजेक्शन और अन्य दवा को अन्य राज्यों से मंगाया जा रहा।

सीएम आदित्यनाथ के निर्देश पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना और चिकित्सा एवं परिवार कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने अस्पतालों का दौरा किया। मंत्री जय प्रताप ने कहा कि कुछ प्राइवेट हॉस्पिटलों ने ऑक्सीजन रहते हुए भी खाली बेड को खाली रखा है। ताकि लोगों से मनमानी कर पैसा लूट सकें। इस तरह के एक मामले में सन अस्पताल के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। लखनऊ में भी मेयो अस्पताल को एक नोटिस भेजा गया है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags