Weather Update: देश की राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में ठंड का प्रकोप जारी है। उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा से लेकर राजस्थान तक सभी राज्य ठंड से बेहाल हैं। पहाड़ी राज्यों में कश्मीर से लेकर हिमाचल और उत्तराखंड में हिमपात से शीतलहर बढ़ गई है। मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तराखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, कच्छ और राजस्थान में अगले 2 दिनों में शीतलहर का प्रकोप ना सिर्फ जारी रहेगा बल्कि और बढ़ेगा। राजधानी दिल्ली में भी सर्द हवाओं और पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी (Snowfall) की वजह से ठिठुरन बढ़ गई है। मंगलवार को दिल्ली-NCR में सीजन का सबसे ठंडा दिन दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को न्यूनतम तापमान, सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस कम यानी 6.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक, अधिकतम तापमान के सामान्य से कम से कम 6.5 डिग्री कम होने पर उसे ‘‘बेहद ठंडा’’ दिन माना जाता है।

गणतंत्र दिवस पर कैसा रहेगा मौसम?

IMD के अनुसार, 26 जनवरी को दिल्ली में बारिश होने की कोई संभावना नहीं है, हालांकि आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रह सकते हैं। राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को राजपथ पर भव्य गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन होना है। शहर में सुबह हल्का कोहरा भी छाया रह सकता है। साथ ही दिन भर ठंड का प्रकोप जारी रहेगा। मौसम विभाग के मुताबिक 26 जनवरी को पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिम उत्तर प्रदेश और राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में घना कोहरा, बादलों की लुका-छिपी और शीतलहरी की स्थिति बनी रहेगी।

क्या है आगे का अनुमान?

मौसम विभाग (IMD) ने अनुमान जताया है कि उत्तर भारत में अभी शीतलहर जारी रहेगी। 27 जनवरी से 30 जनवरी तक उत्तर भारत में ठंड की मार और बढ़ेगी। अगले पांच दिन में उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में न्यूनतम तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है। इससे दिल्ली में ठंड बढ़ सकती है और पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में शीत लहर चल सकती है। अगले दो से तीन दिन में पंजाब, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, असम, सिक्किम, मेघालय और त्रिपुरा के कुछ हिस्सों में घने से बहुत घना कोहरा छाने की संभावना है।

Posted By: Shailendra Kumar