Shirdi Sai Temple: शिरडी में 19 जनवरी से बेमियादी बंद की खबरों के बीच शिरडी का साईं मंदिर भी रविवार को बंद होने की चर्चाएं हो रही हैं। इसे लेकर शिरडी मंदिर समिति की ओर से स्थिति स्पष्ट की गई है। मंदिर के सीईओ दीपक मुगलीकर ने साफ किया है कि इस तरह की अफवाहों पर ध्यान ना दिया जाए। उनकी ओर से बयान दिया गया 'कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि 19 जनवरी रविवार को साईं मंदिर बंद रहेगा। मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि यह सिर्फ अफवाह है। मंदिर 19 जून को खुला रहेगा।'

इसके पूर्व शिरडी के साईंबाबा की जन्मभूमि के स्थान को लेकर महाराष्ट्र की सियासत गरमा गई है। सूबे के मुखिया उद्धव ठाकरे के एक बयान के बाद इसे लेकर बवाल खड़ा हुआ है। मुख्यमंत्री ठाकरे द्वारा परभणी जिले के नजदीक पाथरी को साईं बाबा की जन्मस्थली बताए जाने पर लोगों में नाराजगी पैदा हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुस्साए लोगों ने विरोध स्वरुप 19 जनवरी से शिरडी में अनिश्चितकालीन बंद की घोषणा कर दी है। लंबे अर्से बाद ऐसा होगा जब शिरडी में किसी विवाद की वजह से बंद किया जाएगा।

उद्धव ने दिया था यह बयान

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले हफ्ते बयान दिया था जिसमें उन्होंने पाथरी को साईं की जन्मस्थली के तौर पर बताया था। इसके साथ ही उन्होंने पाथरी के विकास के लिए 100 करोड़ का बजट देने की घोषणा भी कर दी थी। सीएम उद्धव की इस घोषणा के बाद ही शिरडी के लोगों में नाराजगी बढ़ गई और उन्होंने प्रतिक्रिया दी।

लोगों का कहना है कि पाथरी का विकासा कराने में उन्हें किसी तरह की आपत्ति नहीं है लेकिन उस जगह की पहचान साईं की जन्मस्थली के तौर पर नहीं हो सकती है।

सभी धर्मों के लोगों की है आस्था

शिरडी के साईंबाबा पर हिंदुओं और मुस्लिमों दोनों की समान रुप से आस्था है। यही वजह है कि पिछले कुछ दशकों में शिरडी तेजी से चर्चा में आया है और अब रोजाना हजारों श्रध्दालु वहां पहुंचते हैं। ऐसे में सीएम उद्धव के इस बयान के बाद नई राजनीति शुरू होने की आशंका है।

Posted By: Neeraj Vyas

fantasy cricket
fantasy cricket