Corona in India: स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में कोरोना के ताजा हालात पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और ताजा जानकारियां शेयर कीं। मंत्रालय ने साफ शब्दों में कहा कि अभी कोताही बरतने का समय नहीं आया है और कोरोना के मामले चिंताजनक हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रेस कॉन्फ्रेंस में नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC) के डायरेक्टर ने कहा कि अभी देश में ओमिक्रॉन का बीए.2 सब-वेरिएंट अधिक प्रचलित है। यानी ज्यादातर नये मरीजों में इसी वायरस का संक्रमण मिल रहा है। लेकिन इसकी वजह से देश में कोविड 19 के ज्यादा गंभीर मामले सामने नहीं आ रहे हैं। अस्पताल में भरती होने वाले मरीजों की संख्या कम है और आक्सीजन की जरूरत भी कम ही मरीजों को पड़ रही है।

राज्यों में कैसी है स्थिति?

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश के 11 राज्यों में कोविड-19 के 50,000 से ज्यादा उपचाराधीन मरीज हैं। जबकि कर्नाटक, महाराष्ट्र, केरल में तीन लाख से ज्यादा उपचाराधीन मरीज हैं। देश के 400 जिलों में कोविड-19 की साप्ताहिक संक्रमण दर 10 प्रतिशत से ज्यादा थी। 26 जनवरी को समाप्त हुए सप्ताह में 141 जिलों में संक्रमण दर 5 से 10 प्रतिशत रही। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, गुजरात, आंध्र प्रदेश और राजस्थान में कोविड-19 के सर्वाधिक मामले आ रहे हैं। वहीं महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, ओडिशा, हरियाणा, पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के मामलों में संक्रमण दर में गिरावट आयी है।

उधर केन्द्र सरकार ने राज्यों को कोरोना के मामले में ढिलाई ना बरतने की चेतावनी दी है। केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला (Ajay Kumar Bhalla) ने एक बार फिर सभी राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) का सख्‍ती से पालन कराने को कहा है। गृह मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने जो गाइडलाइन दिसंबर में जारी की थी उसे अब 28 फरवरी तक के लिए बढ़ाया जा रहा है। साथ ही सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर संबंधित अधिकारियों को बीमारी के प्रभावी प्रबंधन के लिए आवश्यक निर्देश जारी करने के लिए कहा है।

दरअसल, कोरोना के डेल्‍टा वेरिएंट के साथ ही अब ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में कोरोना के एक्टिव केस 22 लाख से अधिक हो गए हैं। 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 407 जिले में अभी भी कोरोना पॉजिटिविटी रेट 10% से अधिक दर्ज किया गया है।पिछले सप्ताह के दौरान देश में पॉजिटिविटी रेट लगभग 17.75 प्रतिशत थी।

Posted By: Shailendra Kumar