नई दिल्‍ली। Corona Vaccine update: कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के बीच इसकी वैक्सीन को लेकर भी युद्ध स्तर पर कोशिशें चल रही हैं। वैक्‍सीन को लेकर देशवासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है कि हमारे देश में दो भारतीय स्वदेशी टीके तैयार हो रहे हैं और फिलहाल इनका इंसानों पर परीक्षण शुरू हो गया है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कोरोना वैक्सीन को लेकर जानकारी देते हुए बताया कि दो भारतीय स्वदेशी टीके तैयार किए जा रहे हैं। भारत में 2 कंपनियां अलग-अलग साइट्स पर 1000-1000 लोगों पर वैक्सीन के लिए क्लिनिकल स्टडी कर रही है। वे चूहों और खरगोशों पर परीक्षण कर चुकी हैं। ड्रग कंट्रोलर जनरल (DGCI) को डेटा प्रस्तुत किया गया था, जिसके बाद इन दोनों वैक्सीन को इस महीने की शुरुआत में प्रारंभिक चरण के मानव परीक्षण शुरू करने की मंजूरी मिल गई।

गौरतलब है कि ड्रग कंट्रोलर जनरल (DGCI) ने पिछले दिनों दिग्गज फार्मा कंपनी जायडस कैडिला और भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड (बीबीआईएल) को दवा के मानव परीक्षण की अनुमति दे दी है। बता दें कि इन कंपनियों ने कोविड 19 वैक्सीन के लिए मनुष्यों पर क्लिीनकल ट्रायल के लिए ICMR के साथ भागीदारी की है।

भारत वैक्सीन के मामले में बेहद महत्वपूर्ण देश

ICMR महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि दुनिया में 60 प्रतिशत टीके (जैसे रूबेला, खसरा, पोलियो) की आपूर्ति भारत से जाती है। भारत अफ्रीका, यूरोप, दक्षिण पूर्व एशिया और अन्य स्थानों पर इनकी सप्लाई करता है। इसलिए भारत को दुनिया में आपूर्ति के लिए वैक्‍सीन निर्माण के लिए एक महत्वपूर्ण देश का दर्जा प्राप्त है। उन्‍होंने कहा कि विश्‍व में भारत को दवाओं की खान माना जाता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में उपयोग की जाने वाली दवाओं का लगभग 60 प्रतिशत भारतीय मूल की हैं। यह संभवतः दुनिया के काफी लोग जानते हैं। इसलिए ये तमाम देश कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत के लगातार संपर्क में हैं।

रूस, चीन, अमेरिका और ब्रिटेन में वैक्‍सीन बनाने की प्रक्रिया तेज

डॉ. भार्गव ने ये भी बताया कि भारत में तो कोरोना वैक्सीन का मामला मानव परीक्षण तक पहुंच ही चुका है, लेकिन रूस ने भी वैक्सीन को हासिल करने की प्रक्रिया तेज कर दी है। उसने दावा भी किया कि प्रारंभिक चरणों में उसे सफलता भी मिली है। वहीं दूसरी ओर चीन भी वैक्सीन तैयार करने में बड़े पैमान पर जुटा हुआ है। वहां वैक्सीन पर तेजी से अध्ययन किए जा रहे हैं। उन्होंने ये भी बताया कि इसके अलावा अमेरिका और ब्रिटेन में भी वैक्सीन पर काम तेजी से चल रहा है। अमेरिका में दो वैक्सीन पर काम चल रहा है और इंग्लैंड की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में भी वैक्सीन पर तेजी से काम हो रहा है।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020