नई दिल्ली। कोरोना को काबू में करने के लिए छिड़ी जंग में केंद्रीय कर्मचारियों की सेहत का ख्याल रखने के लिए भारतीय रेल अपने 2500 डाक्टरों, नर्सों और 35 हजार पैरामेडिकल कर्मचारियों को मैदान में उतारेगी। इस योजना के तहत रेलवे की सभी स्वास्थ्य सेवाएं अब कोरोना से संक्रमित सभी केंद्रीय कर्मचारियों को पहचानपत्र दिखाने पर उपलब्ध होंगी।

रेलवे ने की 25 हजार से ज्यादा डॉक्टरों की व्यवस्था

कोरोना के खिलाफ कोशिशों को तेज करते हुए रेलवे ने अपने मौजूदा अस्पतालों को और सुसज्जित करने के साथ-साथ वहां अतिरिक्त डाक्टरों और सहायक चिकित्सा कर्मियों की नियुक्ति शुरू कर दी है। अब तक 2546 डॉक्टर तथा 35153 नर्सें और सहायक मेडिकल स्टाफ की व्यवस्था रेलवे के अस्पतालों में की जा चुकी है। रेलवे के पास वर्तमान में देश भर में फैली 586 हेल्थ यूनिटों के अलावा 45 उप मंडलीय अस्पताल, 56 मंडलीय अस्पताल, 8 उत्पादन इकाइयों के अस्पताल और 16 जोनल अस्पताल हैं। इन अस्पतालों का एक बड़ा हिस्सा अब कोरोना महामारी के इलाज के लिए सभी केंद्रीय कर्मचारियों को उपलब्ध कराया जाएगा।

48 हजार क्वारंटाइन बेड हैं तैयार

इससे पहले रेलवे की तरफ से कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने और बचाव के लिए 5000 यात्री डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में बदलने तथा उनमें 80 हजार क्वारंटाइन बेड तैयार करने का काम शुरू किया जा चुका है। अब तक ट्रेनों के 3000 कोच में 48 हजार क्वारंटाइन बेड तैयार हो चुके हैं। इनमें से 11 हजार क्वारंटाइन बेड अभी तक कोरोना संक्रमित मरीजों को उपलब्ध कराए जा चुके हैं।

गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक भारत में कोरोना वायरस (COVID19) मामलों की कुल संख्या बढ़कर 5274 हो गई है। इसमें पॉजिटिव सक्रिय मामलों की संख्या 4714 है। कोरोना के 411 मामले ठीक करके अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिए गए है। वहीं, अब तक कोरोना वायरस से 149 लोगों की मौत हो गई है।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना