Covid-19 Omicron Variant Live Updates: कोरोना महामारी का खतरा एक बार फिर बढ़ गया है। दक्षिण अफ्रीका से निकला कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) अब 16 देशों में फैल चुका है। इसका ताजा शिकार जापान और ऑस्ट्रेलिया हुए हैं। यहां ओमिक्रॉन के पहले मामले की पुष्टि कर दी गई है। साथ ही बचाव के उपाय भी शुरू कर दिए गए हैं। अच्छी बात यह है कि भारत में अब तक Omicron का एक भी केस सामने नहीं आया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने राज्यसभा में यह जानकारी दी। हालांकि कर्नाटक से डराने वाली खबर आ रही है। दरअसल, दक्षिण अफ्रीका से यहां लौटे दो नागरिकों की कोरोना रिपोर्ट आ गई है। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से लौटे दो लोगों में से एक का नमूना कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से अलग लग रहा है। उनके मुताबिक, यह एक 63 वर्षीय व्यक्ति है, और उसकी रिपोर्ट थोड़ी अलग है। यह डेल्टा वेरिएंट से अलग प्रतीत होता है। हम आईसीएमआर अधिकारियों के साथ चर्चा कर विस्तृत जानकारी पता कर रहे हैं।

मुंबई में अब 15 दिसंबर से खुलेंगे स्कूल

ओमिक्रॉन के खतरे के बीच मुंबई में पहली से सातवीं कक्षा तक स्कूल खोलने का फैसला 15 दिसंबर तक टाल दिया है। पहले ये कक्षाएं 1 दिसंबर से लगाई जानी थीं।

WHO ने ओमिक्रोन को बताया बहुत खतरनाक

इस बीच, दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य संस्था विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने चेतावनी जारी की है और ओमिक्रॉन को दुनिया के लिए बड़ा खतरा बताया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी चेतावनी के मुताबिक, शुरुआती सबूतों के आधार पर कहा जा रहा सकता है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट से जोखिम 'बहुत अधिक' है। यह 'गंभीर परिणामों' के साथ पूरी दुनिया में फैल सकता है। संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने सदस्य राज्यों को जारी एक तकनीकी पत्र में कहा कि इस वेरिएंट को लेकर काफी अनिश्चितताएं बनी हुई हैं।

Omicron को लेकर क्या कहते हैं दक्षिण अफ्रीका के डॉक्टर

ओमिक्रॉन को लेकर दक्षिण अफ्रीका के उन डॉक्टरों के अनुभव भी सामने आ रहे हैं, जिन्होंने अपने यहां इसके मरीजों का इलाज किया। ऐसी जानकारी सार्वजनिक की जा रही है ताकि दुनियाभर के डॉक्टरों को इसका फायदा मिल सके। दक्षिण अफ्रीकी स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, ओमिक्रॉन से जुड़े बहुत कम मरीज अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। हालांकि वायरस का यह रूप अत्यधिक ट्रांसमिसिबल है और रोगियों को हल्की बीमारी के साथ भी अत्यधिक थकान का अनुभव हो रहा है।

Omicron के लक्षण

  • डॉक्टर्स का साफ कहना है कि इस नए वेरिएंट को हल्के में बिल्कुल नहीं लेना चाहिए। ये डेल्टा वेरिएंट से बिल्कुल अलग है और उससे ज्यादा खतरनाक भी है।
  • ओमिक्रॉन संक्रमित मरीज डेल्टा स्ट्रेन से पीड़ित लोगों में बहुत अलग लक्षण दिखा रहे हैं।
  • ओमिक्रॉन से पीड़ित रोगियों को थकान, सिर और शरीर में दर्द और कभी-कभी गले में खराश और खांसी की शिकायत हो रही है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन नए उत्परिवर्तन का विश्लेषण कर रहा है और कहा है कि यह कहना जल्दबाजी होगी कि यह कितना संक्रामक और गंभीर है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close