नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा के बाद पुलिस द्वारा आम आदमी के पार्षद Tahir Hussain के घर को सील किए जाने के बाद उसके समर्थन में आवाजें उठने लगी हैं। इनमें पहला नाम Javed Akhtar का है। संगीतकार जावेद अख्तर ने एक बयान में Tahir Hussain के खिलाफ हो रही कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। इसके बाद Javed Akhtar सोशल मीडिया में लोगों के निशाने पर आ गए हैं। Javed Akhtar ने पूछा था कि आखिर सिर्फ ताहिर हुसैन पर ही कार्रवाई क्यों की गई।

जानकारी के अनुसार, Javed Akhtar ने ट्वीट कर दिल्ली पुलिस पर सवाल उठाते हुए लिखा है, 'कई मारे गए, कई सारे घायल हुए, कई घर जला दिए गए, कई दुकानें लूटी गईं। कई लोगों को नुकसान हुआ लेकिन पुलिस ने केवल एक घर सील किया और उसके मालिक को ढूंढ रही है। संयोगवश उसका नाम ताहिर हुसैन है, दिल्ली पुलिस की कंसिस्टेंसी को सलाम है।'

जावेद अख्तर के इस ट्वीट के बाद राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है वहीं गीतकार जावेद अख्तर देखते ही देखते सोशल मीडिया में लोगों के गुस्से का शिकार बनने लगे। एक के बाद एक ट्वीट करते हुए लोगों ने उन पर अपना गुस्सा निकालना शुरू कर दिया। किसी ने इसे गलत बताया तो किसी ने इसे राजनीति से प्रेरित।

हालांकि, कुछ देर बाद जावेद अख्तर ने अपने बयान का बचाव भी किया लेकिन तब तक वो लोगों के निशाने पर आ चुके थे। उन्होंने ट्वीट कर सफाई दी कि वो यह नहीं कह रहे कि केवल ताहिर पर ही कार्रवाई क्यों की गई।

पढ़िए सोशल मीडिया में क्या कह रहे हैं यूजर्स..

एक यूजर ने लिखा कि एक आदमी के घर की छत पर पूरे दिल्ली को जलाने भर का जखीरा निकले तो सबसे पहले वही सील होगा न? उतना जखीरा और विस्फोटक और किस घर से मिला है? आपको पता हो तो पुलिस को बताइए।

वहीं एक यूजर ने पूछा है कि जावेद साहब आप क्या ताहिर का बचाव कर रहे हैं।

एक अन्य यूजर ने लिखा है कि जिसके घर से पत्थर,पेट्रोल बम,एसिड बम, अंकित शर्मा की लाश बाहर आई हैं,लोगों की चीखें गवाह है,उसको ही ढूंढेंगे न!

Posted By: Ajay Kumar Barve