Pakistan Terror Camps: आतंकवादियों की पनाहगाह पाकिस्तान में एक बार फिर बड़े पैमाने पर आतंकी कैंप तैयार किए गए हैं। यहां हजारों लड़कों को तैयार करने की व्यवस्था जुटाई गई है। यह खुलासा पाकिस्तान के पंजाब, बलुचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा इलाकों की Satellite Images सामने आने के बाद हुआ है। भारतीय इंटेलिजेंस एजेंसियों के अनुमान के मुताबिक इन इलाकों में दर्जनों आतंकी कैंप तैयार किए गए हैं। हर कैंप की क्षमता 700 लोगों की है। ऐसे में आने वाले दिनों में पाकिस्तान बड़े पैमाने पर आतंक की फैक्ट्री शुरू करने की कोशिश में है। इन कैंप्स में हजारों युवाओं को रखा गया है।

पाकिस्तान के इन इलाकों से सामने आई सेटेलाइट तस्वीरों में साफ नजर आ रहा है कि इनमें से कई कैंप्स को और बढ़ाया जा रहा है और नए सेंटर्स को तैयार किया जा रहा है जिससे लोगों की संख्या बढ़ाई जा सके। इन नए कैंप्स के लिए सारी सुविधाएं भी जुटाने का काम किया जा रहा है। यहां रहने वाले लोगों को आतंकी विचारधारा के जरिये तैयार किया जाएगा।

इन सेंटर्स में वैसे तो हर उम्र के लोगों को रखा गया है लेकिन इनमें से ज्यादातर युवा हैं। भारतीय इंटेलिजेंस एजेंसी के मुताबिक इन कैंपों में रहने वाले लोगों में से 92 फीसदी लोग 35 साल से कम उम्र के हैं। इनमें से 12 फीसदी तो नाबालिग हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सिक्युरिटी इस्टेब्लिशमेंट से जुड़े एक अधिकारी के अनुसार 'यह देखा गया है कि इन कैंपों में जिस तेजी से लोगों की संख्या बढ़ रही है उससे साफ है कि पाकिस्तान आतंकवाद पर लगाम लगाने में नाकाम रहा है। यहां दर्जनों कैंप सामने आए हैं।' अनुमान के मुताबिक इन Camps में से 37 फीसदी 'Black Zone' है।

Posted By: Neeraj Vyas