कोरोना महामारी की वजह से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगी रोक को 31 अगस्त तक के लिए बढ़ाने का फैसला लिया गया है। शुक्रवार को DGCA (डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन) ने इसकी घोषणा की। पहले यह पाबंदी 31 जुलाई तक थी, लेकिन समय-सीमा खत्म होने से पहले ही नया आदेश जारी कर दिया गया और इस पर लगी रोक को 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया गया। वैसे, पहले की तरह, एयर बबल के तहत वंदे भारत स्कीम के तहत लोगों का आना-जाना जारी रहेगा। वैसे, DGCA की तरफ से जारी सर्कुलर के मुताबिक, "इंटरनेशनल फ्लाइट्स को चुनिंदा रूट्स पर आने-जाने की इजाजत होगी और यह अलग-अलग केस पर निर्भर करेगा।"

यह पाबंदी इंटनरेशल ऑल-कार्गो फ्लाइट्स पर लागू नहीं होगी। इसके साथ ही इस फैसले का असर उन फ्लाइट्स पर भी नहीं पड़ेगी, जिसे DGCA की तरफ से मंजूरी मिली है। खास तौर पर वंदे भारत स्कीम के तहत आने-जाने वाली फ्लाइट्स पर कोई पाबंदी नहीं होगी। आपको बता दें कि देश में शेड्यूल्ड इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट्स 23 मार्च 2020 से ही बंद है। भारत में कोरोनावायरस संक्रमण शुरू होने के बाद इस पर पाबंदी लगाई गई और बीच में हटाई भी गई। लेकिन पिछले साल के आखिर में दूसरी लहर शुरु होने के बाद से इसकी पर लगी पाबंदी की समय-सीमा लगातार बढ़ाई जाती रही है।

वैसे, घरेलू उड़ानों में यात्रियों की संख्या में लगातार वृद्धि दर्ज की गई है। DGCA की तरफ से जून में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक जून महीने में लगभग 31.13 लाख घरेलू यात्रियों ने हवाई यात्रा की। यह संख्या मई में यात्रा करने वाले 21.15 लाख की तुलना में 47 फीसदी अधिक है। डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के मुताबिक, अप्रैल में 57.25 लाख लोगों ने हवाई मार्ग से देश के भीतर यात्रा की थी।

Posted By: Shailendra Kumar