आर्थिक सर्वेक्षण 2021-22 के पेश होने से कुछ दिन पहले सरकार ने डॉ. वी अनंत नागेश्वरन (Dr V Anantha Nageswaran) को नया मुख्य आर्थिक सलाहकार (Chief Economic Advisor) नियुक्त किया। उन्होंने शुक्रवार से कार्यभार भी ग्रहण कर लिया। इस नियुक्ति से पहले डॉ. नागेश्वरन एक लेखक, शिक्षक और सलाहकार के रूप में काम कर चुके हैं। उन्होंने भारत और सिंगापुर में कई बिजनेस स्कूलों और प्रबंधन संस्थानों में पढ़ाया है। उनके दर्जनों लेख प्रकाशित हो चुके हैं।

वी अनंत नागेश्वरन IFMR ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस के डीन और Krea यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के विशिष्ट विजिटिंग प्रोफेसर रह चुके हैं। वह 2019 से 2021 तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आर्थिक सलाहकार परिषद के पार्ट टाइम सदस्य भी रहे हैं। उन्होंने भारतीय प्रबंधन संस्थान अहमदाबाद से प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा और मैसाचुसेट्स विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट की डिग्री प्राप्त की है।

बता दें नागेश्वरन कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम की जगह लेंगे। जिनका कार्यकाल दिसंबर 2021 में समाप्त हो गया। मुख्य आर्थिक सलाहकार आम तौर पर आर्थिक सर्वेक्षण का मसौदा तैयार करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। हालांकि, 2021-22 आर्थिक सर्वेक्षण जो 31 जनवरी को संसद में पेश किया जाना है। उसका मसौदा प्रधान आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल के नेतृत्व वाली एक टीम ने तैयार किया है। आगामी सोमवार को आर्थिक सर्वे जारी किया जाएगा। हर साल के चलन के अनुसार आर्थिक सर्वे पेश होने के बाद सीईए मीडिया को संबोधित करते हैं।

Posted By: Arvind Dubey