EPFO Interest Rates 2020-21: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की गुरुवार को अहम बैठक होने जा रही है। खबर है कि कोरोना महामारी के चलते ब्याज दरों मेंं कुछ कमी की जा सकती है। इससे पहले पिछले साल मार्च में EPFO ने ब्याज दर घटाते हुए 8.5 फीसदी कर दी थी। यह सात साल की सबसे कम ब्याज दर है। ईपीएफ केंद्रीय बोर्ड के ट्रस्टियों की बैठक श्रीनगर में होने वाली है। इस बैठक में ईपीएफओ की आमदनी और उसकी वित्तीय हालात की समीक्षा की जानी है। बोर्ड ने पहले कहा था कि वह 31 मार्च को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए अपने ग्राहकों के लिए दो किश्तों में 8.5% ब्याज का भुगतान करेगा। इसमें एक हिस्सा 8.15% फीसदी का और दूसरा 0.35% का रहा। बहरहाल, अगर गुरुवार को ब्याज दरों में कमी का ऐलान किया जाता है तो यह 6 करोड़ खाताधारकों के लिए बुरी खबर हो सकती है।

श्रीनगर में सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (CBT) की बैठक होना है। आशंका जताई जा रही है कि कोरोना काल में खाताधारकों ने अपने पीएफ खातों से करोड़ों रुपए निकाले हैं। वहीं इसमें जमा होने वाली राशि पिछले सालों की तुलना में कम रही है। इस कारण ब्याज दरों में कमी का फैसला लेना पड़ सकता है।

जानिए कब कितनी रही ब्याज दर

2012-13: 8.5%

2013-14: 8.75%

2015-16: 8.65%

2016-17: 8.8%

2017-18: 8.55%

2018-19: 8.65%

2019-20: 8.50%

(Updating....)

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags