PF Rules : EPFO (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) अपने खाताधारकों को कई सुविधाएं देता है। इसका सबसे अच्‍छा उदाहरण कोरोना संकट है, जिसमें देश भर के 50 लाख से अधिक कर्मचारियेां ने 15 हजार करोड़ रुपए पीएफ खाते में से निकाले हैं। लेकिन यह केवल कोरोना महामारी के समय की बात है। ईपीएफओ में लांग टर्म इन्‍वेस्‍टमेंट किया जाता है और केवल जरूरत पड़ने पर ही निकासी संभव है। कई खाताधारकों को यह जानकारी नहीं होती है कि EPF खाते में से पैसे निकालने पर टैक्‍स भी देना होता है। कर सलाहकारों का कहना है कि ईपीएफ खाते में से जब भी पैसा निकालें तो टैक्‍स का जरूर ध्‍यान रखें ताकि आपने निवेश पर अधिक प्रभाव ना पड़े। जानिये इससे जुड़ी कुछ अहम जानकारियां।

इस कंडीशन पर नहीं लगता है टैक्‍स

ईपीएफ खाते से यदि आप किसी मेडिकल मामले में पैसा निकालते हैं तो इस पर कोई टैक्‍स नहीं लगता है। यदि आपकी नौकरी किसी कारण से छूट गई है और ऐसे में आप जरूरत पड़ने पर पैसे की निकासी करते हैं तो भी कोई कर नहीं लगेगा। लेकिन इन मामलों के अलावा अगर आप किसी अन्‍य कारण से ईपीएफ खाते से आहरण करते हैं तो उस पर टैक्‍स लगता है। इसकी गणना उस वर्ष की आय में जोड़कर की जाती है। टैक्‍स सलाहकारों का कहना है कि ऐसा इसलिए किया जाता है कि ईपीएफ में इन्‍वेस्‍ट किया गया पैसा पूरी तरह से टैक्‍स फ्री होता है।

5 साल की नौकरी के बाद ही पैसा निकालने की छूट

किसी भी संस्‍थान, कंपनी में नौकरी के 5 साल पूरे करने के बाद ही आपको ईपीएफ खाते से पैसे की निकासी करने की पात्रता होगी। इससे पहले यह छूट नहीं मिलती है। यह बात और है कि अगर आपके साथ कोई मेडिकल केस आ जाता है या आपकी नौकरी चली जाती है तो 5 साल के पहले आप चाहें तो नियमानुसार विड्रावल के लिए क्‍लेम कर सकते हैं। 5 साल की अवधि पूरी होने के बाद आप घर निर्माण, शादी के आयोजन आदि जरूरतों के खर्च के लिए खाते में से पैसा निकाल सकते हैं।

पुराने EPFO Account से नए अकाउंट में ऐसे करें पैसा ट्रांसफर

- सबसे पहले आपको EPFO ईपीएफओ के पोर्टल पर Employee Secton इम्पालाई सेक्शन में जाकर UAN यूएन नंबर और पासवर्ड से लॉग इन करना होगा।

- फिर Online Sevice Section में जाएं और On Member Section के पीएफ अकाउंट ट्रांसफर ऑप्‍शन पर क्लिक करें।

- यहां अपनी पर्सनल जानकारी और वर्तमान कंपनी की जानकारी का वेरीफिकेशन करें।

- इसके बाद आप अपने पिछले संस्‍थान के Account Detail पर क्लिक करें।

- अब आप अपने पिछले या वर्तमान संस्‍थान से वेरीफाई होने वाले फॉर्म का चयन करें।

- यहां आपको एक OTP पर Click करना होगा। इसे वेरीफाई करने के बाद Submit का बटन दबाएं।

- इसके बाद आपकी कंपनी, नियोक्‍ता का पार्ट है। वे उनकी तरफ से इसे वेरीफाई करते हैं। इसके बाद पुराने अकाउंट से नए अकाउंट में पैसा ट्रांसफर हो जाता है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस