नई दिल्ली Farmer Tractor Parade। गणतंत्र दिवस पर आयोजन की बीच दिल्ली में आज किसानों का ट्रैक्टर मार्च बेकाबू हो गया। दिल्ली में कई स्थानों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प की खबरें आ रही है। हजारों की तादाद में किसानों ने लाल किले में भी प्रवेश कर लिया है और ट्रैक्टरों के साथ आगे बढ़ रहे हैं। इस बीच यह भी खबर है कि प्रदर्शनकारियों ने लाल किले की प्राचीन से अपना पीले रंग का झंडा भी लहराया है। दिल्ली में कई स्थानों पर बैरिकैडिंग तोड़ दी गई है। हंगामा बढ़ने पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया है और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने कई स्थानों पर आंसू गैस के गोले भी छोड़े हैं। खबर है कि भीड़ को काबू करने के दौरान कई पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं और प्रदर्शनकारियों की तरफ से पुलिस के ऊपर ट्रैक्टर चढ़ाने के भी प्रयास किए गए हैं। दिल्ली में मेट्रो सेवा भी किसानों के प्रदर्शन के कारण प्रभावित हुई है।

#WATCH दिल्ली: लाल किले के अंदर एक प्रदर्शनकारी ने पोल पर अपना झंडा लगाया। #FarmersProtest pic.twitter.com/Uc1hVFH2ef

— ANI_HindiNews (@AHindinews) January 26, 2021

अक्षरधाम मंदिर की तरफ बढ़ रहे किसान

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक एनएच-24 पर भी किसान रास्ते में बैरिकेड तोड़ अक्षरधाम मंदिर की तरफ बढ़ रहे हैं। कुछ स्थानों पर किसान संगठन के कार्यकर्ताओं ने पुलिस की गाड़ी की शीशे भी तोड़ दिए हैं। गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों द्वारा पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ने पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। वहीं आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए हैं। दिल्ली में प्रदर्शनकारी किसानों ने आईटीओ इलाके में एक डीटीसी बस में तोड़फोड़ की। पुलिस ने जब ऐसा करने से इनकार किया तो बहस करने लगे और पथराव शुरू कर दिया। यह भी जानकारी है कि कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों की ट्रैक्टर रैली दिलशाद गार्डन पहुंची।पुलिस किसानों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल कर रही है।

राकेश टिकैत बोले, हिंसा की मुझे जानकारी नहीं

इस बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि ट्रैक्टर रैली शांतिपूर्ण तरीके से चल रही है। ट्रैक्टर रैली के दौरान कुछ जगह पर हो रही हिंसा पर राकेश टिकैत ने कहा कि ये मेरी जानकारी में नहीं है। खबर है कि किसान संगठन से जुड़े कार्यकर्ता लगातार निर्धारित मार्ग को तोड़कर दिल्ली में प्रवेश की कोशिश कर रहे हैं।

गौरतलब है कि तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान आज राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च कर रहे हैं। आज होने वाली किसानों की ट्रैक्टर रैली के लिए बड़ी संख्या में किसान ट्रैक्टर से दिल्ली की तरफ बढ़ रहे हैं। टिकरी बॉर्डर से किसानों की ट्रैक्टर रैली दिल्ली में दाखिल हुई। इसी के मद्देनजर गणतंत्र दिवस समारोह व किसानों की ट्रैक्टर परेड के मद्देनजर दिल्ली में कड़ी सुरक्षा कर दी गई है और सड़कों पर 50000 से ज्यादा जवान तैनात किए गए हैं।

गणतंत्र दिवस समारोह और किसानों की ट्रैक्टर परेड के मद्देनजर दिल्ली अभेद्य किले में तब्दील हो गई है। राजधानी दिल्ली में सोमवार रात से ही सभी सीमाएं सील कर दी गई है। तमाम तरह की चेकिंग के बाद ही वाहनों को दिल्ली में प्रवेश की अनुमति दी जा रही है। पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने सभी आला अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने-अपने इलाकों में गणतंत्र दिवस समारोह समाप्त होने तक सतर्क रहें।

तय रूट पर ही ट्रैक्टर परेड निकाल पाएंगे किसान

दिल्ली पुलिस ने दोहराया है कि किसान संगठन तय रूट पर ही ट्रैक्टर परेड निकाल सकेंगे। शर्तों का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि सोमवार को अंतिम समय तक पुलिस अधिकारियों व किसान नेताओं ट्रैक्टर मार्च को लेकर चर्चा होती रही। पुलिस ने बताया कि टीकरी, सिंघु व गाजीपुर आदि सभी सीमाओं पर ट्रैक्टर परेड शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिए गए हैं।

इसके अलावा एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि किसानों संगठनों के एक धड़े द्वारा रिंग रोड पर शर्तों का उल्लंघन करते हुए परेड निकालने की बात कही जा रही है। इसे देखते हुए उक्त सभी प्रतिबंधित रूटों पर 6 स्तरीय मजबूत बैरिकेडिंग की गई है। डंपर व ट्रकों में पत्थरों के टुकड़े भरकर सड़कों पर खड़े कर दिए गए हैं ताकि कोई उक्त रूटों पर न आ सके।

चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

सभी रूटों पर वाटर कैनन व फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी तैनात कर दी गई है। पर्याप्त संख्या में आंसू गैस के गोले, रैपिड एक्शन फोर्स व पुलिस के जवानों की जगह-जगह तैनाती कर दी गई है। ट्रैक्टर परेड पर नजर रखने के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहां से आयुक्त समेत अन्य आला अधिकारी पल-पल की नजर रखेंगे और जरूरत महसूस होने पर वे सीमाओं पर तैनात अधिकारियों को निर्देश दे सकेंगे। रिंग रोड पर किसी भी सूरत में परेड निकालने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags