देश में कोरोना वायरस के मामले कम होने के बाद भारत सरकार पर्यटन गतिविधियों को बढ़ाने की कोशिश में लगी है। इसी कड़ी में भारत सरकार ने 5 लाख फ्री वीजा देने का ऐलान किया है। इससे देश में विदेशी पर्यटकों की संख्या में इजाफा होगा। भारत में पिछले डेढ़ सालों से विदेशी पर्यटकों पर पाबंदी लगी हुई है। सरकार के फ्री वीजा देने से पर्यटन क्षेत्र में फायदा होने के साथ ही एयरलाइंस कंपनियों को भी फायदा होगा।

केंद्रीय गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी इस मामले में सभी हितधारकों के साथ विचार-विमर्श कर रहे हैं। आने वाले दस दिनों में इसकी औपचारिक घोषणा भी की जा सकती है। देश में कोरोना के मामले कन होने के बाद यह फैसला लिया जा रहा है।

हिमाचल जैसे राज्यों में वैक्सीनेशन को प्राथमिकता

रविवार को देश में कोरोना वायरस के 30,773 नए मामले सामने आए जबकि एक्टिव केस 3.32 लाख से कम हो गए हैं। शनिवार तक देश में 80 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। वहीं वैक्सीनेशन में उन राज्यों को प्राथमिकता दी गई है, जहां पर्यटक ज्यादा आते हैं। इसी वजह से हिमाचल जैसे राज्यों में सभी नागरिकों को वैक्सीन का कम से कम एक डोज लग चुका है।

क्या है सरकार की योजना

सरकार 5 लाख मुफ्त वीजा दे सकती है या फिर सभी पर्यटकों को 31 मार्च 2022 तक निशुल्क वीजा दिया जा सकता है। ऐसा होने पर भारत में विदेशी पर्यटकों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी और सालों से ठप पड़ा पर्यटन उद्दोग पटरी पर लौट सकता है। देश में मार्च 2020 के बाद से कोई ई-पर्यटक वीजा नहीं जारी किया गया है। मार्च 2020 में कोरोना महामारी के कारण विदेशी पर्यटकों की एंट्री बैन कर दी गई थी। इसके साथ ही सरकार ने घरेलू उड़ानों की संख्या बढ़ाने का भी ऐलान किया है। विमान कंपनियां अब कोरोनाकाल के पहले चलने वाली 85 फीसदी उड़ाने फिर से शुरू कर सकती हैं। पहले यह संख्या 72.5 प्रतिशत थी।

Posted By: Shailendra Kumar