Corona In Delhi: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार घटते जा रहे हैं और दैनिक पॉजिटिविटी रेट (Positivity rate) भी कम हो रही है। लेकिन ओमिक्रॉन के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। इस बीच अस्पतालों में भर्ती हुए कोरोना मरीजों की मौत के मामले में चिंताजनक रिपोर्ट सामने आई है। ये रिपोर्ट दिसंबर के आखिरी सप्ताह से लेकर जनवरी के पहले सप्ताह तक, कोरोना संक्रमण से हुई मौतों के मामले में उनके जीनोम सीक्वेंसिंग (Genome sequencing) से जुड़ी है। इस रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान जिन लोगों ने कोरोना से जान गंवाई है. वह सभी ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron variant) से संक्रमित थे। ये इसलिए भी चिंताजनक है क्योंकि ओमिक्रॉन को ज्यादा घातक नहीं माना जा रहा था। परेशानी की बात ये है कि दिल्ली में करीब 80 से 85 फीसदी संक्रमितों में अब ओमिक्रॉन ही मिल रहा है।

कैसे मिली जानकारी?

दिल्ली में 14 जनवरी के बाद से ही कोरोना के केस लगातार कम हो रहे हैं, लेकिन रोजाना औसतन 30 से 35 लोगों की मौत हो रही है। मरनेवाले संक्रमितों में कोरोना का कौन सा वेरिएंट है, इसका पता लगाने के लिए सैंपलों की सीक्वेंसिंग की जा रही है। ये सीक्वेंसिंग दिल्ली के तीन लैब में हो रही है - 1. लोकनायक अस्पताल, 2. इंस्टिट्यूट ऑफ़ लीवर एंड बिलिअरी साइंसेस (ILBS), और 3. नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल(NCDC)। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक इनमें से एक लैब की ओर से जीनोम सीक्वेंसिंग का डाटा जारी किया है। इसमें पता चला है कि दिसंबर के आखिरी सप्ताह से लेकर जनवरी के पहले सप्ताह के बीच जिन लोगों की कोरोना से मौत हुई है, वह सभी ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित थे। वैसे इनमें से एक बड़ी संख्या उन लोगों की थी, जो पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे। इनकी जांच करने पर यह कोरोना से संक्रमित मिले थे। इस रिपोर्ट से ये भी पता चलता है कि दिल्ली में अब ओमिक्रॉन डेल्टा को रिप्लेस कर चुका है।

गुजर चुकी है तीसरी लहर

वैसे, दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर (Third wave) का पीक गुजर चुका है। एक्सपर्ट्स की मानें तो फरवरी के दूसरे सप्ताह तक राजधानी में कोरोना से हालात नियंत्रण में होंगे। अगर आने वाले कुछ सप्ताह में पॉजिटिविटी रेट पांच फीसदी से कम हो गया तो राजधानी में कोविड से स्थिति सामान्य हो जाएगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली में 100% लोगों को पहली डोज दी जा चुकी है और 82% लोगों को दूसरी डोज दे दी गई है। ऐसे में हम जल्द ही कोरोना प्रतिबंधों को हटाएंगे।

Posted By: Shailendra Kumar