कोरोना से ठीक हुए मरीजों को वैक्सीन लेने के लिए अब 9 महीने काी इंतजार करना पड़ सकता है। दरअसल सरकारी पैनल NTAGI (The National Technical Advisory Group on Immunisation) ने ये सुझाव दिया है। इससे पहले NTAGI के सुझाव पर कोरोना मरीजों को ठीक होने के 6 महीने बाद वैक्सीन देना तय हुआ था। अब इसकी समय सीमा को और 3 महीने के लिए बढ़ाने की बात चल रही है। फिलहाल पैनल ने अपना ये सुझाव सरकार के पास मंजूरी के लिए भी भेज दिया है। अगर सरकार ने ये सुझाव मान लिया तो किसी व्यक्ति को कोरोना वायरस होने पर, पूरी तरह ठीक होने के करीब नौ महीने बाद ही टीका लगेगा।

वैसे एक्सपर्ट ग्रुप ने ये सुझाव कुछ तथ्यों पर गौर करने के बाद दिये हैं। दरअसल भारत में कोरोना की पहली लहर के दौरान रिइन्फेक्शन की दर4.5% थी। और इनके बीच 102 दिनों का अंतर देखने को मिला था। कुछ अन्य देशों में हुई स्टडी में भी पाया गया है कि कोरोना संक्रमण होने के बाद किसी व्यक्ति में 6 महीने तक इम्युनिटी रह सकती है। इसलिए इस दौरान टीका देने का कोई फायदा नहीं है। इसलिए इतना वक्त जरूरी है।

अभी हाल ही में एडवाइजरी कमेटी ने कोविशील्ड की दोनों डोज लेने के बीच का गैप 4 से 6 हफ्तों से बढ़ाकर 12 से 16 हफ्ते कर दिया है। इसी के साथ CoWin डिजिटल पोर्टल पर कोविशील्ड वैक्सीन की दो डोज के बीच के गैप को बढ़ाकर 84 दिन कर दिया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देश पर CoWin डिजिटल पोर्टल में जरूरी बदलाव किए जा चुके हैं, और यानी अब इस पोर्टल पर कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 84 दिन के बाद ही होगा।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags