शत्रुघ्न शर्मा, अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा चुनाव में प्रथम चरण की 89 सीट पर चुनाव लड रहे 788 प्रत्याशियों में से 21 फीसदी आपराधिक मामलों के आरोपी हैं। आप के सबसे अधिक 36 प्रतिशत उम्मीदवार जबकि कांग्रेस के 35 प्रतिशत प्रत्याशी आपराधिक छवि के हैं। जबकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हर सभा में आप को ईमानदार सबसे बड़ी देशभक्‍त पार्टी बताते हैं।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफोर्म एडीआर ने गुरुवार को गुजरात विधानसभा चुनाव में प्रथम चरण के उम्मीदवारों के आपराधिक रिकार्ड पर एक रिपोर्ट जारी की जिसमें यह जानकारी दी गई। प्रथम चरण के 21 फीसदी प्रत्याशी आपराधिक मामलों के आरोपी हैं जिनमें से 13 प्रतिशत के खिलाफ हत्या,दुष्कर्म, अपहरण जैसे गंभीर प्रकार के मामले दर्ज हैं। प्रथम चरण की 89 सीट में से आम आदमी पार्टी 88 सीट पर चुनाव लड रही है, इसके 36 फीसदी उम्मीदवार आपराधिक छवि के हैं।

इनमें से 32 पर हत्या, दुष्कर्म, अपहरण जैसे गंभीर प्रकार के आरोप हैं। केजरीवाल आप के राष्ट्रीय संयोजक हैं तथा वे आप नेताओं के सबसे बड़े ईमानदार व देशभक्त होने का दावा करते हैं लेकिन आप प्रत्याशियों की सूची कुछ और ही कहानी बयां करती नजर आ रही है। आपराधिक छवि के लोगों को टिकट देने के मामले में कांग्रेस भी कम नहीं है, हालांकि ऐसा लगता है कि आप इस मामले में कांग्रेस के ही नक्शेकदम पर चल रही है। कांग्रेस के 35 फीसदी उम्मीदवार दागी हैं। प्रथम चरण में आप के 32 व कांग्रेस के 31 उम्मीदवार आपराधिक छवि के हैं।

भाजपा सभी 89 सीट पर चुनाव लड़ रही है, इस के 16 प्रतिशत उम्मीदवार आपराधिक छवि वाले हैं, भाजपा के 14 प्रत्याशियों पर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। भारतीय ट्राइबल पार्टी 14 सीट पर चुनाव लड रही है उसके 29 फीसदी उम्मीदवारों पर आपराधिक केस चल रहे हैं। प्रथम चरण के 167 प्रत्याशी आपराधिक छवि के हैं जिनमें से 100 गंभीर प्रकार के मामलों का सामना कर रहे हैं। चुनाव लड रही महिला प्रत्याशियों पर हत्या व हत्या के प्रयास के 15 मामले दर्ज हैं। भाजपा के जनक तलाविया, पूर्व मंत्री परसोत्तम सोलंकी, कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष एवं विधायक जिग्नेश मेवाणी, कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर, आप के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल ईटालिया, अल्पेश कथीरिया पर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close