Gujarat Panchayat Nagar Palika Chunav Result LIVE Updates: गुजरात में भाजपा ने शहरों के बाद ग्रामीण इलाके में अपनी पकड़ मजबूत करते हुए 31 जिला पंचायतों पर कब्जा जमाया जबकि तहसील पंचायत व नगरपालिका में भी प्रचंड जीत हासिल की। हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष व नेता विपक्ष ने इस्तीफा सौंप दिया। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने 2022 के विधानसभा चुनाव में भी जीत की हुंकार भर दी। आम आदमी पार्टी ने सूरत के बाद गांवों में भी अच्छी कामयाबी हासिल की। वहीं एआइएमआइएम ने गोधरा व मोडासा में सफलता पाई।

गुजरात के शहरों के बाद अब ग्रामीण इलाकों में भी कांग्रेस अपना विश्वास खो चुकी है। गुजरात की 33 में से 31 जिला पंचायतों, 231 तहसील पंचायतों और 81 नगर पालिकाओं के लिए रविवार को मतदान हुआ था। मंगलवार को मतगणना के साथ ही भाजपा लगातार बढ़त बनाती गई, कांग्रेस दूर दूर तक कहीं नजर नहीं आई।

मतदान वाली सभी 31 जिला पंचायतों पर जीत हासिल करने वाली भाजपा ने 81 नगर पालिकाओं में 75 और 231 तहसील पंचायतों में 196 पर शानदार जीत हासिल की है। वहीं कांग्रेस को चार नगर पालिकाओं और 33 तहसील पंचायतों पर सब्र करना पड़ा। दो नगर पालिकाएं अन्य के खाते में गईं।

भाजपा ने 31 जिला पंचायत की 980 सीटों में से 771 पर और नगर पालिका की 2720 सीटों में से 2027 पर जीत दर्ज कर प्रचंड रूप से वापसी की है। 2015 के निकाय चुनाव में भाजपा 31 में से छह जिला पंचायतों पर ही जीत दर्ज कर सकी थी। जबकि कांग्रेस को पाटीदार, ओबीसी व दलित आंदोलन के चलते 23 पर जीत हासिल हुई थी।

भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद सी आर पाटिल व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की लगातार यह तीसरी बड़ी जीत है। नवंबर 2020 में हुए उपचुनाव में विधानसभा की आठ सीटों पर कब्जा जमाया। अहमदाबाद, सूरत, राजकोट, वडोदरा, जामनगर तथा भावनगर महानगर पालिका में जीत दर्ज करने के बाद अब भाजपा ने पंचायत व पालिका चुनाव में भी कांग्रेस का सफाया कर दिया। कांग्रेस के आठ विधायकों के पुत्र और उनके रिश्तेदार भी बुरी तरह हार गए। विधायक निरंजन पटेल खुद दो वार्ड से चुनाव लड़े लेकिन हार गए। एक दर्जन नगर पालिकाओं में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला जबकि करीब 20 जिला पंचायतों में कांग्रेस दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाई।

अध्यक्ष व नेता विपक्ष का इस्तीफा

पंचायत व पालिका चुनाव में करारी हार के बाद प्रदेश अध्यक्ष अमित चावडा व नेता विपक्ष परेश धनाणी ने इस्तीफा दे दिया। खबर है कि आलाकमान ने इस्तीफा मंजूर कर लिया है। माह के अंत तक नए नेताओं का चुनाव होगा। गुजरात के सूरत में मनपा की 27 सीट जीतकर चर्चा में आई दिल्ली की आम आदमी पार्टी ने गुजरात के गांवों में भी दस्तक दी है। उधर आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने गोधरा में सात व मोडासा में नौ सीटें जीतकर दम दिखाया है।

निकाय चुनाव परिणाम-2021

शाम 7 बजे तक विविध दलों की ओर से जीती गई सीटें

-भाजपा कांग्रेस आप अन्य

तहसील पंचायत (4774) 3322 1243 31 16

जिला पंचायत (980 ) 785 167 02 04

नगर पालिका (2727) 2063 385 09 24

2.15 PM: मुख्यमंत्री विजय रुपाणी तथा भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटील पंचायत व पालिका चुनाव के परिणाम आने के बाद प्रदेश भाजपा कार्यालय पर आयोजित जीत के जश्न में शामिल होने के लिए पहुंचे थे।

2.12 PM: गुजरात भाजपा के अध्यक्ष सी आर पाटिल ने कहा हैकी सभी जिला पंचायत में भाजपा जीत के करीब है। केंद्र व राज्य की सरकार ने जो काम किए लोग उसके लिए भाजपा को मत दे रहे हैं। प्रधानमंत्री मंत्री नरेंद्र मोदी तथा मुख्यमंत्री विजय रुपाणी को इसके लिए धन्यवाद। गत चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को पांच जिला पंचायत में जीत हासिल हुई थी लेकिन इस बार सभी 31 में भाजपा जीत हासिल करते हुए नजर आ रही है।

1.20 PM: गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा के गढ़ आनंद नेता विपक्ष परेश धनाणी के गृह जिले अमरेली दिग्गज नेता अर्जुन मोढवाडिया के गृह जिले पोरबंदर में भी कांग्रेस की करारी हार। अहमदाबाद सूरत वडोदरा राजकोट जामनगर भावनगर अमरेली आणंद गांधीनगर जूनागढ़ सहित सभी 31 जिला पंचायतों में भाजपा ने छुआ बहुमत का आंकड़ा। भारतीय ट्राइबल पार्टी के अध्यक्ष छोटू भाई वसावा के पुत्र भी चुनाव हारे कांग्रेस के उप सचेतक अश्विन कोटवाल के पुत्र भी चुनाव हारे। कांग्रेस के विधायक निरंजन पटेल पेटलाद में चुनाव हारे।

12.30 PM: गुजरात प्रदेश भाजपा कार्यालय श्री कमलम पर पार्टी ने जीत के जश्न की तैयारियां शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी तथा प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटील 1:30 बजे बाद कभी भी पार्टी कार्यालय पहुंच सकते हैं। कार्यकर्ताओं को पार्टी कार्यालय पहुंचने की सूचना दे दी गई है कार्यकर्ता गांधीनगर स्थित भाजपा कार्यालय पर पहुंच रहे हैं। पंचायत व पालिका चुनाव में बुरी तरह पस्त हुई कांग्रेस के लिए मोरबी जिले की मालिया मियाना नगर पालिका से बहुत अच्छे समाचार आए हैं इस नगरपालिका की सभी 24 सीटों पर कांग्रेस ने कब्जा जमा लिया है कांग्रेस नगर पालिका पर पूरी मजबूती के साथ काबिल हो चुकी है।

12.20 PM: गुजरात में जिला पंचायत तहसील पंचायत तथा नगरपालिका की 8474 सीटों में से अब तक भाजपा 2300 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। कांग्रेस 520 सीटों पर तो आम आदमी पार्टी 40 सीटों पर जबकि 24 सीट पर अन्य बढ़त लिए हुए हैं। पंचायत में पालिका चुनाव की कई सीटों का परिणाम आ चुका है। 80 फीसदी सीटों पर भाजपा के प्रत्याशी विजेता होते दिख रहे हैं जबकि आम आदमी पार्टी भी शहरों के बाद ग्रामीण इलाकों में भी अपना खाता खोलने में कामयाब रही।

11:17 AM: जिला पंचायत की 980 सीटों में से 133 पर भाजपा, 28 पर कांग्रेस तथा 3 पर अन्य आगे चल रहे हैं। तालुका पंचायत की 4774 सीटों में से 587 पर भाजपा, 180 पर कांग्रेस तथा 28 पर अन्य आगे चल रहे हैं। नगर पालिका की 2720 सीटों में से 559 पर भाजपा, 125 पर कांग्रेस तथा 38 पर अन्य आगे चल रहे हैं। अन्य में निर्दलीय तथा आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार शामिल हैं। पालिका में पंचायत की 80 फीसदी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी बढ़त बनाए हुए हैं। कांग्रेस 2015 के चुनाव के मुकाबले बहुत पीछे चल रही है तथा महानगरपालिका की तरह पंचायत में पालिका चुनाव में भी कांग्रेस को करारी हार मिलती नजर आ रही है। अमरेली आणंद के बाद जामनगर तथा जूनागढ़ में भी आम आदमी पार्टी ने खाता खोला।

10.31 AM: जिला पंचायत की 980 सीटों की मतगणना शुरू हो चुकी है। इनमें 48 सीट पर भाजपा, 4 सीट पर कांग्रेस तथा 2 सीट पर अन्य आगे चल रहे हैं। तहसील पंचायत की 4774 सीटों की मतगणना शुरू हो चुकी है। इनमें से 338 पर भाजपा, 85 पर कांग्रेस तथा 17 पर अन्य आगे चल रहे हैं। नगर पालिका की 2720 सीटों की मतगणना शुरू हुई जिसमें से 310 पर भाजपा, 41 पर कांग्रेस तथा 20 पर अन्य आगे चल रहे हैं।

10.15 AM: भरूच तथा गोधरा में ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन पार्टी की मौजूदगी के चलते जिला पंचायत में नगर पालिका के चुनाव परिणाम पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं। आम आदमी पार्टी ने भी अमरेली में आणंद में एक-एक सीट जीतकर अपना खाता खोल लिया है। आम आदमी पार्टी ने सूरत में कांग्रेस से 27 सीट जीतकर उसका सफाया कर दिया था, सूरत महानगर पालिका में भाजपा पुन: सत्तासीन हुई लेकिन प्रमुख विपक्षी दल के रूप में आम आदमी पार्टी उभरकर सामने आ चुकी है।

10.00 AN: 4 जिला पंचायत में भाजपा ने बढ़त बनाई जबकि तीन नगर पालिकाओं में भाजपा आगे चल रही है। 13 तहसील पंचायत में भाजपा जबकि दो तहसील पंचायत में कांग्रेस आगे।

उना नगरपालिका पहले ही निर्विंरोध भाजपा के खाते में: मेहसाणा जिले की कडी तथा गीर सोमनाथ की उना नगर पालिका पहले ही निर्विंरोध भाजपा के खाते में चल गई थी। रविवार को सुबह से ही ग्रामीण मतदाताओं ने लोकतंत्र के इस पर्व में रुचि दिखाई और मतदान केंद्रों पर लंबी लंबी कतारें देखी गई।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags