Haryana Budget 2020: 28 फरवरी को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल बजट पेश करेंगे। उनके पास वित्त मंत्रालय का कार्यभार भी है। प्रश्नकाल के बाद दोपहर 12 बजे सीएम मनोहर लाल 2020-21 का बजट पेश करेंगे। 2 और 3 मार्च को बजट पर चर्चा होगी और 3 मार्च को ही सीएम जवाब देंगे। गुरुवार को सत्र की शुरूआत से पहले बिजनेस एडवाइजरी कमेटी की बैठक हुई। इसमें बजट सत्र की अवधि निर्धारित की गई। स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता के द्वारा यह जानकारी सदन में देने के बाद कांग्रेस विधायक बिशन लाल सैनी ने बजट पर चर्चा के लिए कम समय रखने का मुद्दा उठाया।

हरियाणा सरकार का बजट इस बार किसान और खेती पर ही केंद्रित रहेगा, ताकि निर्धारित साल 2022 तक किसानों की इनकम दोगुनी की जा सके। इसके लिए किसान संबंधी मौजूदा योजनाओं को जहां सरकार और ज्यादा मजबूती के साथ आगे बढ़ाएगी, वहीं किसानों के लिए भविष्य में कुछ नई योजनाओं की घोषणा भी की जाएंगी। इस किसान हितैषी बजट की एक झलक विधानसभा अधिवेशन के पहले दिन राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य के अभिभाषण में दिखाई दी।

इस अभिभाषण से इस बात के भी संकेत मिले कि 28 फरवरी को पेश होने वाला हरियाणा सरकार का बजट किसानों के लिए खास सौगात लाने वाला है। विधानसभा में राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में इस बात का जिक्र किया कि किस तरह किसानों की आय बढ़ाने और कृषि क्षेत्र को और समृद्ध बनाने की दिशा में प्रदेश सरकार काम कर रही है। इस दिशा में सरकार ने जिन लक्ष्यों को पूरा कर लिया है और जो नए लक्ष्य निर्धारित किए हैं, उनकी विस्तार से जानकारी राज्यपाल ने सदन में सदस्यों के सामने पेश की।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket