Hathras Case: उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की युवती से दुष्कर्म के बाद मौत को लेकर देर रात तक हंगामा होता रहा। पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए कानपुर से दिल्ली भेजा गया था, जहां मंगलवार सुबह उसकी मौत हो गई। अंतिम संस्कार को लेकर देर रात तक हंगामा हुआ। पुलिस पर आरोप है कि उन्होंने परिवार को एक कमरे में बंद करने के बाद जबरन अंतिम संस्कार किया। इस दौराना हाथापाई भी हुई। वहीं पुलिस अधिकारी दावा कर रहे हैं कि पीड़िता का अंतिम संस्कार परिवार की मर्जी से हुआ है। दिल्ली से लेकर यूपी तक इस केस की चर्चा है और खूब राजनीति भी हो रही है। हाथरस रेपकेस में एसआईटी का गठन किया गया है। यूपी के डीआईजी इस तीन सदस्यीय एसआईटी का हिस्सा हैं।

इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर बताया कि इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे बात की है और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है।

रात एक बजे गांव लाया गया शव, रात ढाई बजे पुलिस ने जबरन अंतिम संस्कार

बूलगढ़ी की दुष्कर्म पीडि़ता का शव एंबुलेंस के जरिए मंगलवार देर रात एक बजे गांव लाया गया। गांव एंबुलेंस पहुंचते ही हंगामा शुरू हो गया। अंतत: आक्रोश, हंगामे और हाथापाई के बीच शव पहले पीडि़ता के घर और उसके बाद एक किलोमीटर दूर अंत्येष्टि स्थल ले जाया गया। रात्रि ढाई बजे अंतिम संस्कार शुरू हो गया।

देर रात एक बजे शव लेकर एंबुलेंस दिल्ली से हाथरस पहुंची। दिल्ली में भीम आर्मी की तरह यहां भी आक्रोशित ग्रामीणों ने एंबुलेंस के आगे लेटकर पुलिस का रास्ता रोक दिया। इनमें पीडि़ता के स्वजन, रिश्तेदार और अन्य लोग एंबुलेंस के आगे लेट गए। पुलिस शव सीधे अंत्येष्टि स्थल ले जाना चाहती थी, जबकि ग्रामीण इस बात पर अड़े थे कि शव पहले घर ले जाया जाए इसके बाद अंत्येष्टि हो। पुलिस ने हटाने की कोशिश की तो हाथापाई हो गई। गांव का रास्ता संकरा होने के कारण एंबुलेंस को आगे बढ़ाना मुश्किल हो गया। कुछ देर के लिए शव पीडि़ता के घर ले जाया गया। इसके बाद स्वजन ग्रामीण सुबह सात बजे अंतिम संस्कार की बात करने लगे। इस पर पुलिस ने शव जबरन अंत्येष्टि स्थल पहुंचाया। सौ मीटर पहले ही स्वजनों व ग्रामीणों को रोक कर रात ढाई बजे अंतिम संस्कार करा दिया गया। अंतिम संस्कार की तैयारियां शाम से ही कर ली गई थीं।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020