Home Minister in Jammu-Kashmir : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अपने तीन दिन के जम्मू-कश्मीर दौरे पर हैं। सोमवार को अपने दौरे के आखिरी दिन उन्होंने श्रीनगर में डल झील में शिकारा महोत्सव (Shikara festival) का आनंद लिया। इस दौरान उनके साथ जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह भी मौजूद थे। सोमवार को ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने श्रीनगर में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास भी किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं आज कश्मीर के युवाओं से अपील करने आया हूं कि जिन्होंने आपके हाथ में पत्थर पकड़ाए थे, उन्होंने आपका क्या भला किया? जिन्होंने आपके हाथ में हथियार पकड़ाए थे, उन्होंने आपका क्या भला किया? उन्होंने कश्मीर के युवाओं से लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं में शामिल होने और कई स्तरों पर जनप्रतिनिधि बनने का आह्वान करता किया। इससे पहले आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गांदरबल जिले के खीर भवानी दुर्गा मंदिर में पूजा-अर्चना की थी।

केंद्रीय गृह मंत्री अगस्त 2019 में अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद पहली बार केंद्र शासित प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर है। उनका ये दौरा उस वक्त हुआ है, जब जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की ओर से नागरिकों की हत्या की कई घटनाएं हुई हैं। जम्मू कश्मीर के दौरे के आखिरी दिन अमित शाह पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) कैंप पहुंचे। वहां उन्होंने सैनिक सम्मेलन में जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि मेरे तीन दिन के जम्मू-कश्मीर के दौरे का सबसे महत्वपूर्ण और उपयोगी कार्यक्रम आज का और अभी का है।

अमित शाह ने जवानों का हौसला बढ़ात हुए कहा कि जब अनुच्छेद 370 और 35ए हटाया गया, तब हिंसा की ढेर सारी अटकलें लगाई जाती थीं, लेकिन आप सभी की मुस्तैदी के कारण कहीं पर किसी को एक गोली भी नहीं चलानी पड़ी और ये हम सभी के लिए बहुत बड़ी बात है। देशहित में कश्मीर के लिए इतना बड़ा फैसला लेने के बाद भी जिस मुस्तैदी के साथ आप लोगों ने यहां मोर्चा संभाला, बिना रक्तपात के कश्मीर के अंदर विकास के नए युग की शुरुआत हुई है। अमित शाह आज CRPF के कैंप में ही रात गुजारेंगे।

Posted By: Shailendra Kumar