हैदराबाद। Hyderabad Doctor Murder: महिला वेटनरी डॉक्टर की हैदराबाद में जघन्य हत्या ने देशभर को झकझोर कर रख दिया है। महिलाओं पर हो रहे गंभीर अपराधों के खिलाफ कड़े कानून बनाने और इस वारदात को अंजाम देने वाले चारों आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग उठ रही है। सभी आरोपियों के परिजन भी उन्हें कड़ी से कड़ी सजा देने की बात कह रहे हैं। परिजन अपने बच्चों द्वारा इस घटना को अंजाम देने से ना सिर्फ सदमें में हैं, बल्कि उन्हें अब भी विश्वास नहीं हो रहा है कि उनके बच्चों ने हैवान बनकर इस कृत्य को अंजाम दे डाला। ऐसे में जहां एक आरोपी के परिजन ने कहा कि वह उनके लिए मर गया है तो वहीं एक ने अपने बच्चे को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की बात कह डाली। आरोपियों के परिजनों की नाराजगी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपने बच्चों को फांसी पर टांगने तक की बात कही है।

घटना के बाद घर पहुंचे मुख्य आरोपी ने कही यह बात

इस घटना को अंजाम देने के बाद चारों आरोपी अपने घर चले गए थे। वारदात का मुख्य आरोपी अपने घर पहुंचा तो घबराया हुआ था। इस पर परिजनों ने इसकी वजह पूछी तो उसने कहा कि उसके एक महिला की हत्या कर दी है। हालांकि यह बताते हुए भी उसने झूठ बोला और कहा कि उसकी लॉरी ने एक गाड़ी पर सवार महिला को टक्कर मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई।

अन्य 3 आरोपी ने नहीं जाहिर होने दी घटना

इस वारदात को अंजाम देने के बाद अन्य तीनों आरोपी भी घर पहुंच गए। आरोपियों के परिजनों का कहना है कि घर आने के बाद उन्होंने ऐसा महसूस ही नहीं होने दिया कि वे इतनी बड़ी घटना को अंजाम देने के बाद घर आए हैं। रोजाना की तरह ही खाना खाने के बाद आरोपी सो गए। एक आरोपी शादीशुदा है। वह किडनी की बीमारी से भी पीड़ित है। वह भी आया और सो गया। उसने इस वारदात का किसी से भी जिक्र नहीं किया।

गाड़ी पंचर कर की थी वारदात

हैदराबाद में बीते बुधवार को चार आरोपियों ने मिलकर 26 साल की एक वेटनरी डॉक्टर के साथ योजनाबद्ध तरीके से वारदात को अंजाम दिया था। चारों आरोपियों ने पहले महिला डॉक्टर पर नजर रखी। उसके बाद टोल बूथ पर खड़ी उनकी गाड़ी को पंचर कर दिया। जब वेटनरी डॉक्टर रात में अस्पताल से लौटीं तो पंचर गाड़ी की मदद के बहाने चारों आरोपी डॉक्टर को सुनसान इलाके में ले गए और सामूहिक दुष्कर्म को अंजाम दिया था।

महिला डॉक्टर की मिली थी जली लाश

चारों आरोपियों ने पहले वेटनरी डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया उसके बाद हत्या को अंजाम दिया। इसके बाद भी आरोपी नहीं रुके और शव पर पेट्रोल छिड़ककर उसमें आग लगा दी। अगले दिन सुबह अंडरपास के नजदीक जला शव मिलने के बाद सनसनी फैल गई थी। परिजनों द्वारा लॉकेट की मदद से अपनी बेटी को पहचाना गया। इसके बाद देशभर में इस घटना के प्रति आक्रोश फैल गया था।

Posted By: Neeraj Vyas