मल्टीमीडिया डेस्क। हैदराबाद के हैवानों को मौत की जो सजा मिली है वो एक मिसाल बन गई है। पूरा देश हैदराबाद पुलिस की तारीफें करते हुए थक नहीं रहा है। इनमें भी VC Sajjanar का नाम सबसे आगे है। सोशल मीडिया से लेकर सड़कों तक हैदराबाद पुलिस के इस कदम की इतनी तारीफ हो रही है जिसकी उन्होंने कभी उम्मीद नहीं की थी। ऐसा शायद पहली बार है जब पुलिस के किसी कदम को लेकर देश ने एक सुर में तारीफ के पुल बांधे हों। इस सब के सूत्रधार के रूप में सोशल मीडिया में सायबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार की तस्वीरें और बाहदूरी भरे कदम की खबर वायरल हो रही है।

वीसी सज्जनार ने ही मीडिया को बताया कि हैदराबाद की महिला डॉक्टर के साथ दुष्कर्म कर हत्या करने वाले सभी चार आरोपियों को एनकाउंटर में मार गिराया गया है। वीसी सज्जनार, जिन्होंने यह सूचना दी उन्हें काफी बहादूर और बोल्ड स्टेप लेने वाला अफसर माना जाता है। ऐसा पहली बार नहीं है जब उनके किसी बड़े पद पर रहते इस तरह का एनकाउंटर हुआ हो। इससे पहले 2008 में वो जब वारंगल के एसपी थे तब भी ऐसा ही कुछ हुआ था।

खबरों के अनुसार 2008 में वारंगल जिले में दो इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स पर एसिड अटैक का मामला सामने आया था। इसके पीछे एकतरफा प्यार और प्यार को ठुकराने की बात कही जा रही थी। एसिड अटैक के बाद जहां एक छात्रा की मौत हो गई थी और दूसरी मौत से लड़ रही थी। उस समय एसपी रहे सज्जनार की टीम ने तीन आरोपियों को इस मामले में गिरफ्तार किया था और इसी तरह से हथियार छीनकर भागने की कोशिश में हुए एनकाउंटर में मारे गए थे।

उस समय भी पुलिस तीनों आरोपियों को घटनास्थल पर सबूत एकत्रित करने के लिए ले गई थी लेकिन पुलिस का कहना था कि आरोपियों ने भागने की कोशिश में उन पर हमला कर हथियार छीने और फायरिंग कर दी थी। इसके जवाब में पुलिसकर्मियों ने तीनों आरोपियों को मार गिराया था। यह एनकाउंटर वारंगल के बाहरी इलाके मामोनूर में हुआ था।

बता दें कि वीसी सज्जनार 1996 की बैच के IPS अफसर हैं। उन्होंने पिछले साल ही दिसंबर में साबराबाद के पुलिस कमिश्नर के रूप में चार्ज संभाला था।

Posted By: Ajay Barve

fantasy cricket
fantasy cricket