नई दिल्ली। 1 जून यानी सोमवार से देशभर में काफी कुछ बदलने वाला है। पूरे देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लगा हुआ था लेकिन अब इसमें धीरे धीरेछूट दी जा रही है। सोमवार से लॉकडाउन में राहत के साथ ही आपके दैनिक जीवन से जुड़ी कई चीजों में बड़ा बदलाव भी होने जा रहा है। इनमें आपको सबसे ज्यादा परिवर्तन आपको यातायात नियमों में देखने को मिलेगा।

देश में लॉकडाउन का चौथा चरण समाप्त होने के साथ ही 1जून से पटरियों पर 200 नियमित ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो जाएगी। 30 राजधानी स्पेशल ट्रेनें पहले से ही देशभर में चल रही हैं। यदि आप जल्द अपने घर जाना चाहते हैं हम आपको इन ट्रेनों का पूरा टाइम टेबल, स्टेशन और ठहराव की पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। इससे आपको सफर करने में काफी आसानी होगी। ये भी सवाल उठाया जा रहा है कि क्‍या ये ट्रेनें हमारे घर, शहर के स्‍टेशन पर रुकेंगी या नहीं।

ऐसे में इन शंकाओं का समाधान करने के लिए रेलवे ने इन ट्रेनों का विस्‍तृत विवरण सार्वजनिक रूप से प्रकाशित किया है। लिहाजा इस लिस्‍ट के आधार पर हम आपको बताने जा रहे हैं स्पेशल ट्रेनों की सारी डिटेल जिससे टिकट रिजर्वेशन कराते समय आपको दिक्कत न हो।

ट्रेनों के संचालन के सामान्य होने केसंबंध में भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने बताया कि चरणबद्ध तरीके से ट्रेनों का संचालन सामान्य होगा। एक जून के बाद अगले चरण में शताब्दी एक्सप्रेस, वंदे भारत, गरीब रथ और दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा सकता है।

भारतीय रेल 1 जून से 200 ट्रेनों का संचालन करने जा रही है। इंडियन रेलवे ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। जानकारी के अनुसार यह सभी ट्रेन नॉन एसी रहेंगी। यह उन लोगों के लिए एक बड़ा राहत भरा कदम होगा जो लोग लॉकडाउन की वजह से दूसरे शहर में अपने घर से दूर फंसे हुए हैं। अब लोग इन ट्रेन के जरिए आसानी से अपने घर पहुंच जाएंगे।

यात्रियों को कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से एहतियात बरतने को कहा गया है। साथ ही रेलवे ने सूचित किया है कि स्टेशनों में भीड़ और सुरक्षा को देखते हुए फेस मास्क का उपयोग करें। साथ ही शारीरिक दूरी का पालन करने को भी कहा गया है।

इसके अलावा रेल मंत्रालय ने कहा है कि यात्री टिकट रिजर्वेशन के लिए 120 दिन यानी 4 महीने पहले से ही बुकिंग करा सकते हैं। रेलवे ने वर्तमान में यात्रियों को सिर्फ एक महीने पहले तक की ही एडवांस बुकिंग की सुविधा दे रखी है। नया नियम 31 मई सुबह से लागू हो जाएगा।

भारतीय रेलवे ने पहले ही गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों, गर्भवती महिलाओं और 65 साल से अधिक उम्र के लोगों से अपील की थी कि बहुत आवश्यक होने पर ही ट्रेन से सफर करें। रेल मंत्रालय ने भी एक बयान जारी कर लोगों से अपील की है कि केवल आवश्यक होने पर ही सफर करें।

यात्रा से पहले इन बातों का रखना है ख्याल

सिर्फ कन्‍फर्म/आरएसी टिकट वाले मुसाफिर को ही स्‍टेशन के भीतर आने और ट्रेन में चढ़ने दिया जाएगा।

जिन यात्रियों को यात्रा करनी है, वे ट्रेन रवाना होने से 90 मिनट पहले स्‍टेशन जरूर पहुंच जाएं।

रेलवे स्‍टेशन पर एंट्री और एग्जिट के वक्‍त स्‍क्रीनिंग आवश्यक रूप से होगी। इसके अलावा हमेशा मास्‍क पहने रखना होगा।

रेलवे आपसे किसी तरह का कैटरिंग चार्ज किराये में नहीं लेगा।

ट्रेन में आपको कंबल, चादर या तकिया नहीं उपलब्ध होगा।

यात्री आरोग्‍य सेतु ऐप इंस्‍टॉल करें और सोशल डिस्‍टेंसिंग को सख्‍ती से पालन करें।

इन 200 स्पेशल ट्रेनों का किराया सामान्य होगा और आरक्षित होने की वजह से सामान्य कोचों के लिए सेकेंड सीटिंग (2S) का किराया लिया जाएगा और सभी यात्रियों को सीट उपलब्ध कराई जाएगी। इन ट्रेनों में पार्सल और सामान की भी बुकिंग हो सकेगी। इसके अलावा करंट बुकिंग, रोड साइड पड़ने वाले स्टेशनों के लिए सीटों का तत्काल कोटा आवंटन जैसे नियम नियमित ट्रेनों के टाइम टेबल के मुताबिक ही होंगे।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना