PPF, NSC Savings Schemes : केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में PPF, KVP जैसी विभिन्न स्मॉल सेविंग स्कीम के ब्याज दर में 0.70 फीसद से 1.40 फीसद तक की कटौती कर दी है। Public Provident Fund (PPF) पर ब्याज दर में 0.80 फीसद की भारी कमी की गई है। अप्रैल-जून तिमाही के दौरान PPF पर 7.1 फीसद का ब्याज मिलेगा। वहीं, Kisan Vikas Patra पर ब्याज दर को 0.70 फीसद घटाकर 6.9 फीसद कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि लंबे समय से इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि सरकार लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कमी कर सकती है।

सरकार ने आज एक अहम फैसला लेते हुए छोटी बचत योजनाओं की ब्‍याज दरों में कटौती कर दी है। सरकार ने 70 बेसिस पाइंट्स से 140 के बीच छोटी बचत ब्याज दर में कटौती की है। एक बेसिस पाइंट का मतलब एक फीसदी का सौवां भाग होता है। सरकार ने अप्रैल-जून की अवधि के लिए सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) पर 80 बीपीएस BPS या 7.9 प्रतिशत से 7.1 प्रतिशत की दर से कटौती कर दी है।

इसके बाद राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) की दर को 110 प्रतिशत घटाकर 7.9 प्रतिशत से 6.8 प्रतिशत कर दिया है। किसान विकास दर पर 70 प्रतिशत की कटौती की गई है, जो पहले 7.6 प्रतिशत से 6.9 प्रतिशत थी। 5-वर्षीय आवर्ती जमा पर दर में 140 बीपीएस BPS की 7.2 प्रतिशत से 5.8 प्रतिशत तक की कटौती की गई है, जबकि समय पर जमा राशि को 100 प्रतिशत घटाकर 7.7 प्रतिशत से 6.7 प्रतिशत कर दिया गया है।

National Savings Certificate (NSC) पर ब्याज दर में 1.10 फीसद की जबरदस्त कटौती की गई है। अब इस स्कीम में निवेश पर निवेशकों को 6.8 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। पांच साल के रेकरिंग डिपोजिट (RD) पर ब्याज दर में 1.40 फीसद की सबसे ज्यादा कमी की गई है। अब इस अवधि के RD पर 5.8 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। वहीं, पांच साल के टाइम डिपोजिट पर 6.7 फीसद का ब्याज मिलेगा।

इस स्कीम में ब्याज दर में एक फीसद की कटौती की गई है। सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम्स (SCSS) पर ब्याज दर में 1.2 फीसद की कटौती की गई है। अब इस योजना में निवेश करने वालों को एक अप्रैल, 2020 से 30 जून, 2020 की अवधि में 8.6 फीसद की बजाय 7.4 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। सरकार हर तिमाही में इन बचत योजनाओं पर ब्याज दर निर्धारित करती है। केंद्र सरकार ने करीब एक साल के अंतराल के बाद लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कमी की है।

Post Office में PPF, RD, Sukanya Samridhi Scheme जैसी कई छोटी बचत योजनाएं चलती रहती हैं और इन्हीं योजनाओं में आपको हर मीहने एक तय रकम डालनी होती है। रकम ना डालने या देरी होने पर Post office इसके लिए जुर्माना भी लगाती है। इन्ही छोटी बचत योजनाओं को लेकर Post Office ने बड़ा फैसला लिया है। इसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ने वाला है। इस फैसले के तहत अगर आप अपनी बचत योजना में पैसे जमा नहीं कर पाते हैं तो चिंता की बात नहीं है। दरअसल, पोस्ट ऑफिस ने देशभर के अपने ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए कहा है कि अगर वो अपने PPF, RD या दूसरी बचत योजना में किस्त नहीं डाल पाते हैं तो भी उन्हें इसके लिए कोई जुर्माना नहीं देना होगा। पोस्ट ऑफिस ने कहा है कि लॉकडाउन के चलते हम अपने ग्राहकों को यह छूट दे रहे हैं और इसके तहत अगर कोई अपने खाते में मिनिमम अमाउंट जमा नहीं कर पा रहा है तो वो बिलकुल भी परेशान ना हो। बता दें कि केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक ने देश में लॉकडाउन को देखते हुए लोगों के बैंक ईएमआई के अलावा और भी कई मामलों में बड़ी राहत दी है। इसी के तहत अब पोस्ट ऑफिस ने भी यह राहत अपने ग्राहकों तक पहुंचाई है। सरकार के ऐलान के बाद पोस्ट ऑफिस ने भी ग्राहकों को इस छूट का फायदा 30 जून तक देने का फैसला किया है। इसके बाद अब अगर फिस्कल ईयर 2020 में पैसे की किस्त जमा नहीं कर पाता तो उसे कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा। बता दें कि इन बचत योजनाओं का उपयोग करने वालों को हर महीने इसमें मिनिमम अमाउंट जमा करवाना जरूरी है। पीपीएफ के लिए यह रकम जहां 500 रुपए है वहीं आरडी के लिए यह 100 रुपए है। हालांकि, इन पर लगने वाले पैनल्टी क्रमश 50 और 1 रुपए मिनिमम है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना