IRCTC Updates : बैंक या रेलवे के नाम पर लोगों के धोखाधड़ी की खबरें अब आम हो चुकी हैं। कई मामलों में लोग अनजान नंबर से आया फोन उठोते तक नहीं हैं। वहीं साइबर क्रिमिनल रेलवे या सरकारी विभागों के नंबर के कॉल कर फर्जीवाड़ा करना आसान समझते हैं। ऐसे में अपने ग्राहकों को इस फर्जीवाड़े से बचाने के लिए भारतीय रेलवे ने Truecaller के साथ हाथ मिलाया है। अब रेलवे के हेल्पलाइन नंबर 139 को Truecaller Business Identity Solutions से वैरिफाई किया जाएगा। इससे ग्राहकों को यह जानने में मदद मिलेगी कि बुकिंग और PNR स्टेटस से जुड़े कॉल या मैसेज मिल रहे हैं, वो सचमुच IRCTC की तरफ से ही भेजे गये हैं या नहीं।

कैसे करेंगे वेरिफाई?

आपके बता दें कि भारतीय रेलवे की सहायक कंपनी, IRCTC ट्रेन से यात्रा करने की योजना बनाने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए शुरुआती बुकिंग और इंफॉर्मेशन प्लेटफॉर्म है। IRCTC के अनुसार, रेलवे हेल्पलाइन 139 पर ट्रेन रिजर्वेशन, अराइवल और डिपार्चर की जानकारी के लिए हर रोज दो लाख से ज्यादा कॉल आती हैं। लोगों को धोखे से बचाने के लिए रेलवे के नंबर को एक हरे रंग का वैरिफाइड बिजनेस बैज सौंपा जाएगा, जो कॉल करने वालों को दिखाई देगा। ठीक इसी तरह, SMS मैसेज के हेडर में भी यह बैज दिखाया जाएगा, जिससे धोखाधड़ी या साइबर अपराधियों द्वारा ठगे जाने की गुंजाइश कम होगी।

स्पैम कॉल से सभी लोग परेशान

दुनिया भर में स्पैम कॉल और मैसेज से यूजर्स काफी ज्यादा परेशान हो चुके हैं। Truecaller के अनुसार, पिछले साल की तुलना में 2020 में वैश्विक स्तर पर स्पैम कॉल में 18% की बढ़ोतरी हुई। IRCTC की चेयरमैन और MD रजनी हसीजा ने एक बयान में कहा, "इस एंगेजमेंट के जरिए, हमने Truecaller के साथ तकनीकी सहयोग के साथ IRCTC के कम्यूनिकेशन चैनलों को ग्राहकों के साथ ज्यादा मजबूत, विश्वसनीय और सुरक्षित बनाने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाया है, जिससे हमारे ग्राहकों के साथ विश्वास पैदा हुआ है।"

Posted By: Shailendra Kumar