Tika Utsav: देश में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 1,52,879 नए केस आए हैं। महामारी फैलने के बाद यह पहला मौका है जब एक दिन में इतनी भारी संख्या में मामले आए हैं। बीते 24 घंटों में 839 मरीजों की जान गई है। 90,584 मरीज ठीक भी हुए हैं। इस तरह देश में कुल मरीजों का आंकड़ा 1,33,58,805 पहुंच गया है। 11,08,087 एक्टिव केस हैं जबकि मृतक संख्या बढ़कर 1,69,275 हो गई है। वहीं टीकाकरण में भी तेजी आई है। अब तक कुल 10,15,95,147 लोगों को टीका लगवाया जा चुका है, परंतु महामारी के फैलने की रफ्तार को देखते हुए टीकाकरण को और तेज करने की जरूरत है। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से 11-14 अप्रैल के बीच "टीका उत्सव" मनाने की अपील की है। कोरोना रोधी टीका इसकी गारंटी तो नहीं देता कि इसको लगवाने के बाद आप संक्रमित नहीं होंगे, लेकिन 99.9 फीसद यह आश्वस्ति अवश्य है कि संक्रमित होने के बाद भी आपकी जिंदगी को खतरा नहीं होगा। यह काम महात्मा ज्योतिबा फुले की जयंती के दिन शुरू हो रहा है।

देश में वैक्सीनेशन टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ. एनके अरोड़ का कहना है कि देश में 12 साल के अधिक उम्र के बच्चों का टीकाकरण जुलाई-अगस्त तक शुरू हो जाएगा। तब तक 45 से अधिक उम्र के जरूरतमंदों को टीका लगता रहेगा।

उत्तर प्रदेश: वाराणसी के ज़िला अस्पताल में टीका महोत्सव मनाया जा रहा है। एक महिला ने बताया,टीका महोत्सव पर आज मैंने टीका लगवाया है,अपने को सुरक्षित रखने के लिए टीका लगवाना बहुत जरूरी है और साथ ही मास्क पहनकर, सामाजिक दूरी का पालन कर तथा बार-बार हाथ धोकर हम सुरक्षित रहे सकते हैं।

बिहार: पटना के गार्डिनर अस्पताल में टीका उत्सव मनाया जा रहा है। अस्पताल के वैक्सीन सेंटर कॉर्डिनेटर ने बताया, PM ने आज से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाने का संदेश दिया था ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोग टीका लगवाएं। इस उत्सव के लिए हमने यहां ज़्यादा काउंटर बनाएं हैं ताकि भीड़ कम हो।

पीएम की अपील का हुआ है असर

"टीका उत्सव" के सफल होने की पूरी उम्मीद है। कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में देखा गया है कि प्रधानमंत्री मोदी ने जब-जब भी देशवासियों से कुछ अपेक्षा की है, देश के लोगों ने उम्मीद से ज्यादा योगदान किया है। बात चाहे एक दिन के जनता कर्फ्यू की हो, ताली या थाली बजाने की हो या फिर सख्त लॉकडाउन की। इन प्रयासों से कोरोना संक्रमण के प्रसार की गति को रोकने में बहुत हद तक कामयाबी मिली थी। अब कोरोना की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। टीका उत्सव का मकसद इसे रोकना है, लेकिन महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश समेत कुछ राज्य टीके की कमी की बात कह रहे हैं। टीका उत्सव को सफल बनाने के लिए ये राज्य और टीके की मांग कर रहे हैं। वैसे तो यह उत्सव चार दिनों का है, लेकिन आप इसे महामारी के खत्म नहीं होने तक का उत्सव बना सकते हैं। इसके लिए बस आपको इतना करना है कि खुद तो टीका लगवाएं ही दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। यह तब तक करते रहें जब तक देश को महामारी से मुक्त न करा लें।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags