किसान आंदोलन अपडेट: कृषि कानूनों पर सरकार और किसान संगठनों के बीच तकरार जारी है। अब तक यह आंदोलन राजनीति से दूर रहा है, लेकिन अब कांग्रेस खुलकर मैदान में उतरने की रणनीति बना रही है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पर एक बुकलेट जारी की, जिसका शीर्षक है 'खेती का खून तीन काले कानून'। साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा, देश को कुछ लोग मिलकर चला रहे हैं। कृषि बिल से खेती बर्बाद हो जाएगी। हमको किसानों के साथ खड़े रहना होगा। किसानों को न थकाया जा सकता है, न हराया जा सकता है। सरकार को तीनों कृषि बिल वापस लेने पड़ेंगे, कोई दूसरा समाधान नहीं है। चुनिंदा लोगों को फायदा पहुंचाया जा रहा है। यह त्रासदी पूरा देश देख रहा है। हालांकि राहुल गांधी ने जेपी नड्डा के उन सवालों का जवाब नहीं दिया, जो उनकी प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले पूछे गए थे। राहुल ने कहा वे देश के सवालों के जवाब देंगे।

राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कई सवाल पूछे हैं। नड्डा ने राहुल से पूछा कि कांग्रेस चीन के मुद्दे पर हमेशा झूठ क्यों बोलती है? एक के बाद एक ट्वीट में नड्डा ने लिखा, राहुल गांधी ने तमिलनाडु में जल्लीकट्टू का आनंद लिया। जब सत्ता में थे तब उनकी पार्टी ने इस पर प्रतिबंध क्यों लगाया और तमिल संस्कृति का अपमान किया। क्या उन्हें भारत की संस्कृति और लोकाचार पर गर्व नहीं है? अब राहुल गांधी अपनी मासिक छुट्टी से लौट आए हैं, मैं उससे कुछ प्रश्न पूछना चाहूंगा। मुझे उम्मीद है कि वह आज की प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्हें जवाब देंगे। उम्मीद है राहुल गांधी इन सवालों के जवाब देने की हिम्मत जुटा पाएंगे। यदि वह ऐसा नहीं करते हैं, तो मैं हमारे मेहनती मीडिया मित्रों से आग्रह करता हूं कि वे इन प्रश्नों को पूछें।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags