LIVE Covid-19 Vaccination: भारत में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। देशभर में अब तक हजारों लोगों को टीके लग चुके हैं और साइड इफेक्ट का कोई बड़ा केस सामने नहीं आया है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह 10.30 राष्ट्र के नाम संबोधन करते हुए इस अभियान की शुरुआत की। इसके साथ ही देश के अलग-अलग हिस्सों से टीकाकरण की तस्वीरें आना शुरू हो गई है। देश का पहला कोरोना टीका दिल्ली में ऐम्स के सफाईकर्मी मनीष कुमार को लगा। नीचे देखिए अलग-अलग शहरों की तस्वीरें और वीडियो। वहीं टीकाकरण सेंटर्स को भी इस तरह सजाया गया है मनो वहां कोई जश्न मनाया जा रहा हो। पहले चरण में 3 करोड़ लोगों को टीका लगेगा। पहले दिन 3 लाख लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य है। पहले चरण में जिन लोगों को टीके लगाए जा रहे हैं, उनमें अधिकांश स्वास्थ्य कर्मी और फ्रंट लाइन वर्कर्स शामिल हैं। इनके अलावा 50 साल से अधिक उम्र के जरूरतमंद मरीजों को टीके लगाए जाएं। आम जनता के लिए टीकाकरण की शुरुआत अगले चरण में होगी। टीकाकरण अभियान की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा, आज के दिन का पूरे देश को बेसब्री से इंतेजार रहा है। कितने महीनों से देश के हर घर में बच्चे, बूढ़े, जवान सभी की जुबान पर ये सवाल था कि कोरोना वैक्सीन कब आएगी। अब वैक्सीन आ गयी है, बहुत कम समय में आ गई है। अब से कुछ ही मिनट बाद भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होने जा रहा है। मैं सभी देशवासियों को इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं। कोरोना के मुश्कल दौर को याद करते हुए पीएम मोदी भावुक हो गए।

पीएम ने कहा, आज वो वैज्ञानिक, वैक्सीन रिसर्च से जुड़े अनेकों लोग विशेष प्रशंसा के हकदार हैं, जो बीते कई महीनों से कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बनाने में जुटे थे। आमतौर पर एक वैक्सीन बनाने में बरसों लग जाते हैं, लेकिन इतने कम समय में एक नहीं, दो मेड इन इंडिया वैक्सीन तैयार हुई हैं: PMमैं ये बात फिर याद दिलाना चाहता हूं कि कोरोना वैक्सीन की 2 डोज लगनी बहुत जरूरी है। पहली और दूसरी डोज के बीच, लगभग एक महीने का अंतराल भी रखा जाएगा। दूसरी डोज़ लगने के 2 हफ्ते बाद ही आपके शरीर में कोरोना के विरुद्ध ज़रूरी शक्ति विकसित हो पाएगी।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया, दिल्ली में आज से वैक्सीनेशन शुरू हुआ है। 81 केंद्रों पर यह वैक्सीनेशन एक साथ शुरू की गई है जिसमें ज़्यादातर अस्पताल हैं। एक केंद्र पर 100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। कुल मिलाकर आज 8100 लोगों को वैक्सीन लगाने की योजना है।

गुजरात

Image

नई दिल्ली ऐम्स

Image

पूर्वी दिल्लीः धर्मशिला अस्पताल में पहला टीका सफाई कर्मचारी मुकेश को लगा है।

यहां भी क्लिक करें: क्या कोरोना का टीका लगवाना अनिवार्य है, पढ़िए आपके मन में उठ रहे ऐसे हर सवाल का जवाब

अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश जब कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलो से जूझ रहे हैं, तब भारत में न केवल नए मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड कमी आई है, बल्कि अब टीकाकरण भी शुरू हो गया है। यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान है।

भारत 19वां देश है जहां कोरोना के टीकाकरण की शुरुआत होने जा रही है, लेकिन इससे भी बड़ी बात यह है कि भारत दुनिया का मात्र चौथा देश है जहां स्वदेशी वैक्सीन लगाई जा रही है। बता दें, भारत में पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को मंजूरी मिली है। दोनों टीके पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावी हैं। 24 घंटे काम करने वाली 1075 नंबर की हेल्पलाइन स्थापित की गई है। कोविशील्ड व कोवैक्सीन की 1.65 करोड़ खुराकें राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को आवंटित कर दी गई हैं। सरकार ने ट्रांसपोर्टेशन की विशेष व्यवस्था की है।

प्रयागराज। काल्विन अस्पताल में टीका लगवाने से पहले हनुमान जी का आशीर्वाद लेतीं प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. सुषमा श्रीवास्तव, प्रतापगढ़ में टीका लगाने के बाद चक्कर आने पर आब्जरवेशन रूम में लिटाईं गई डा. पारुल सक्सेना और कौशांबी में टीका लगवाते डा. सुनील कुमार सिंह।

ओडिशा की तस्वीरें

Image

Image

Image

झारखंड में लगाए गए पोस्टर्स

Image

Image

महाराष्ट्र में तैयार हैं नर्सेंस

Image

कर्नाटक में ऐसे सजा गया टीकाकरण केंद्र

Image

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags