LIVE Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti 2021: आज पूरा देश नेताजी सुभाषचंद्र बोस को उनकी 125वीं जन्मजयंती पर याद कर रहा है। भारत सरकार ने इस दिन को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती वर्ष के मौके पर आयोजित कई कार्यक्रमों उद्घाटन करने व इसमें हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता में हैं। पराक्रम दिवस समारोह में सियासी संग्राम दिखा। नेताजी के जयंती समारोह में अजीब स्थिति उत्पन्न हुई। पराक्रम दिवस समारोह के कार्यक्रम में ममता बनर्जी नाराज हुई। ममता ने बोलने से इनकार किया। ममता ने कहा कि कार्यक्रम में बुलाकर किसी का अपमान करना ठीक नहीं। ममता बनर्जी मंच से बिना भाषण दिए लौटीं। ममता ने सिर्फ जय हिंद जय बांग्ला बोला। मंच पर पहुंचते ही जय श्रीराम के नारे लगे। इसी से ममता नाराज हो गईं।

इससे पहले, प्रधानमंत्री विक्टोरिया मेमोरियल पहुंच गए। इस दौरान उनके साथ सीएम ममता बनर्जी और राज्यपाल धनखड़ भी मौजूद हैं। पीएम मोदी मेमोरियल हॉल में कुछ ही देर में 'पराक्रम दिवस' समारोह के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता की। इस दिन सिर्फ कार्यक्रम ही नहीं बल्कि विक्टोरिया मेमोरियल में दो नए गैलरी का भी पीएम उद्घाटन किया। एक गैलरी नेताजी को लेकर तैयार किया गया है, जिसका नाम निर्भीक सुभाष रखा गया है। दूसरी गैलरी देश के अन्य स्वतंत्रता आंदोलनकारियों को लेकर तैयार की गई है जिसका नाम विप्लवी भारत रखा गया है। इस अवसर पर पीएम मोदी एक स्थायी प्रदर्शनी और नेताजी पर एक प्रोजेक्शन मैपिंग शो का भी उद्घाटन पीएम मोदी ने किया। प्रधानमंत्री नेताजी की चिट्ठियों से जुड़ी एक किताब का भी विमोचन किया। पीएम द्वारा एक स्मारक सिक्का और डाक टिकट भी जारी किया गया। नेताजी की थीम पर आधारित एक सांस्कृतिक कार्यक्रम 'आमरा नूतन जिबनेरी' भी आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम से पहले प्रधानमंत्री मोदी कोलकाता में ही नेशनल लाइब्रेरी (राष्ट्रीय पुस्तकालय) का भी दौरा किया। यहां एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन '21वीं सदी में नेताजी सुभाष की विरासत का फिर से दौरा' सहित कई कार्यक्रमों और एक आर्ट गैलरी व चित्र प्रदर्शनी का पीएम उद्घाटन किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कलाकारों और सम्मेलन के प्रतिभागियों के साथ बातचीत भी की।

Parakram Diwas 2021 LIVE UPDATES:

- पीएम मोदी ने कहा कि देश ने ये तय किया है कि अब हर साल हम नेताजी की जयंती, यानी 23 जनवरी को ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में मनाया करेंगे। हमारे नेताजी भारत के पराक्रम की प्रतिमूर्ति भी हैं और प्रेरणा भी हैं।

- पीएम मोदी ने कहा कि मैं नेता जी की 125वीं जयंती पर कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से उन्हें नमन करता हूं। मैं आज बालक सुभाष को नेताजी बनाने वाली, उनके जीवन को तप, त्याग और तितिक्षा से गढ़ने वाली बंगाल की इस पुण्यभूमि को भी नमन करता हूं।

- विक्टोरिया महल में संबोधन में के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज के ही दिन माँ भारती की गोद में उस वीर सपूत ने जन्म लिया था, जिसने आज़ाद भारत के सपने को नई दिशा दी थी। आज के ही दिन ग़ुलामी के अंधेरे में वो चेतना फूटी थी, जिसने दुनिया की सबसे बड़ी सत्ता के सामने खड़े होकर कहा था, मैं तुमसे आज़ादी मांगूंगा नहीं, छीन लूँगा।

- नारेबाजी से नाराज ममता बनर्जी ने बोलने से किया इंकार, कहा- किसी को बुलाकर बेइज्‍जत करना ठीक नहीं

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में पहुंचे हुए हैं। इस दौरान उनके साथ सूबे की मुखिया ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनकड़ भी मौजूद हैं।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता की नेशनल लाइब्रेरी पहुंचे हुए हैं। यहां वो आर्टिस्ट और डेलीगेट्स से बातचीत कर रहे हैं।

- नेताजी की बहादुरी और आदर्श हर भारतीय को प्रेरित करती है। भारत में उनका योगदान अमिट है। भारत महान नेताजी सुभाष चंद्र बोस के समक्ष झुकता है। PM नरेंद्र मोदी ने अपनी कोलकाता यात्रा और पराक्रम दिवस के कार्यक्रमों की शुरुआत नेताजी भवन में नेताजी बोस को श्रद्धांजलि देकर की।

- सुभाष चंद्र बोस की जयंती को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कोलकाता दौरे पर हैं। उन्होंने यहां नेता जी भवन का दौरा किया।

गौरतलब है कि राष्ट्र के प्रति नेताजी की अदम्य भावना और निस्वार्थ सेवा को सम्मान देने और याद रखने के लिए, भारत सरकार ने हर साल 23 जनवरी को 'पराक्रम दिवस' के रूप में मनाने का फैसला किया है।पीएम मोदी ने बोस की 125वीं सालगिरह मनाने के लिए सालभर कार्यक्रमों के आयोजन करने एक 85 सदस्यीय हाईलेवल कमेटी भी पहले ही गठित की है।खास बात है कि इस साल अप्रैल-मई में बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके लिए भारतीय जनता पार्टी महीनों पहले से ही राज्य में काफी सक्रिय नजर आ रही है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह कई बार बंगाल का दौरा कर चुके हैं। ऐसे में पीएम मोदी के बंगाल पहुंचने से राज्य में सियासी हलचल तेज होगी।

सुभाषचंद्र बोस की जयंती पर शनिवार को कोलकाता में सुपर संडे

यूं तो सुभाषचंद्र बोस को पूरे देश में याद किया जा रहा है, लेकिन सभी की नजरें आज कोलकाता पर है। आज यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सियासत में उनकी विरोधी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक मंच पर हो सकते हैं। दरअसल, सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर पीएम मोदी और ममता बनर्जी, दोनों कोलकाता में रहेंगे। दीदी का पैदल मार्च है। सुभाष चंद्र बोस का जन्म दिन में 12 बजकर 15 मिनट पर हुआ था, इसलिए दीदी इसी समय पर 8 किमी पद यात्रा शुरू की है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शाम 3.30 बजे असम से कोलकाता पहुंचेंगे। वे यहां नेशनल लायब्रेरी जाएंगे। चार बजे एक सेमिनार को संबोधित करेंगे। इसके बाद शाम 4.39 बजे विक्टोरिया मेमोरियल में सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर आयोजित सांस्कृति कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। यहां पहले राज्यपास जगदीप धनगड़ का भाषण होगा, फिर ममता बनर्जी संबोधिक करेंगे। सबकुछ ठीक रहा तो यहां ममता बनर्जी और नरेंद्र मोदी एक मंच पर नजर आएंगे। शाम 6 बजे मोदी का भाषण होगा और 7 बजे वे दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज असम का दौरा करेंगे, वहीं राहुल गांधी तमिनलाडु में रहेंगे। इन दोनों राज्यों में भी इसी साल चुनाव होने हैं।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags