Lockdown in 2022: देश में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। यही कारण है कि कई राज्यों ने लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगा दी हैं। ताजा खबर उत्तर प्रदेश से आ रही है। सरकार ने पाबंदियों के साथ नई गाइडलाइन जारी कर दी है। यूपी में भी नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है। नाइट कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा। साथ ही जहां कोरोना संक्रमण की दर 4 फीसदी से अधिक है, वहां होटल, रेस्त्रां, जिम, पब को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोला जाएगा। अब उन राज्यों में सख्ती बढ़ सकती है जहां रोज 1000 से अधिक केस आएंगे। इससे पहले 14 जनवरी तक स्कूल बंद करने का बड़ा फैसला लिया जा चुका है। चुनावी रैलियां भी रद्द की जा सकती हैं।

नाइट कर्फ्यू, फिर वीकेंड कर्फ्यू....कहीं लग न जाए लॉकडाउन

पाबंदियों की शुरुआत नाइट कर्फ्यू से हुई। साल के आखिरी दिनों में अधिकांश राज्यों ने अपने यहां नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया था। अब नए साल के पहले हफ्ते में ही वीकेंड कर्फ्यू की नौबत आ गई है। दिल्ली के साथ ही बिहार में शनिवार और रविवार को इसकी गाइडलाइन जारी कर दी गई। मुंबई, गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश उन राज्यों में शामिल हैं जहां कोरोना की स्थिति लगातार विस्फोटक होती जा रही है। आशंका जताई जा रही है कि हालात नहीं सुधरे तो सरकारों को सख्ती बढ़ाना होगी और हो सकता है कि संक्रमण को काबू करने के लिए टोटल लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है। जहां जानिए पूरे देश का हाल

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान, सभी सरकारी दफ्तरों में WFH, निजी दफ्तरों में 50% कर्मचारी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वीकेंट कर्फ्यू लगाया गया है। DDMA यानी Delhi Disaster Management Authority में इस पर फैसला हुआ है। उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में डीडीएमए की बैठक हुई, जिसके बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ऐलान किया। फैसले के मुताबिक, दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगेगा। जरूरी सामान की दुकानें खुली रहेंगी। निजी दफ्तरों में 50 प्रतिशत स्टाफ ही काम करेगा। सरकारी कायालयों में वर्क फ्रॉम होम लागू होगा। केवल अनिवार्य सेवाओं के कार्यालय खुले रहेंगे। बस और मेट्रो पूरी क्षमता के साथ चलेंगे, लेकिन बिना मास्क के किसी को अनुमति नहीं रहेगी।

बता दें, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में शामिल है। दिल्ली सरकार के फॉर्मूल के मुताबिक, यदि संक्रमण दर 5 फीसदी से ऊपर जाती है तो टोटल कर्फ्यू रहेगा। अब यह दर 6 फीसदी हो चुकी है। पिछले 24 घंटों में यहां कोरोना केस में तेज उछाल देखते हुए 4100 केस दर्ज किए गए हैं।

इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी में दिसंबर के अंतिम सप्ताह से कोरोना वायरस संक्रमण में वृद्धि देखी जा रही है। दिल्ली में सोमवार को 4,099 नए मामले दर्ज किए गए, जो पिछले दिन की गिनती से 28 प्रतिशत अधिक है और सकारात्मकता दर अब 6.46 प्रतिशत है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि पिछले दो दिनों में राष्ट्रीय राजधानी में लगभग 84 प्रतिशत मामले नए कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमाइक्रोन के हैं। दिल्ली में लगातार बढ़ रहे मामलों पर मंत्री ने यह भी कहा कि अगर अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ती है तो और प्रतिबंध लगाए जाएंगे। सत्येंद्र जैन ने कहा कि एक सप्ताह के भीतर कोविड मामलों की संख्या चरम पर होगी।

कोरोना से हुआ था नए साल का आगाज

इससे पहले देश में कोरोना के खौफ के बीच नए साल का आगाज हुआ। अब नए साल के तीन ही दिन गुजरे हैं कि कई राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगा दी गई हैं। हरियाणा के बाद पश्चिम बंगाल और राजस्थान सरकार ने भी एक तरह से अघोषित लॉकडाउन लगा दिया गया है। इससे पहले हरियाणा में 12 जनवरी तक स्कूल बंद कर दिए गए हैं। साथ ही आम जनता से जुड़ी नई पाबंदियां लगा दी गई हैं। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के मुताबिक, गुरुग्राम, फरीदाबाद, अंबाला, पंचकुला और सोनीपत में मॉल और बाजार शाम 5 बजे तक बंद हो जाएंगे। सार्वजनिक परिवहन, होटल, रेस्तरां, मॉल, अनाज मंडियों में प्रवेश करने की अनुमति केवल उन्हीं लोगों को है, जिनको वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं। वहीं महाराष्ट्र से लगातार खबर आ रही है कि उद्धव ठाकरे सरकार लॉकडाउन पर विचार कर रही है। दिल्ली, यूपी, केरल, तमिनलनाडु, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, तेलंगाना ऐसे ही राज्यों की लिस्ट में शामिल हैं।

राजस्थान में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां, पढ़िए गाइडलाइन

बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए राजस्थान सरकार ने रविवार को संक्रमण के और प्रसार को रोकने के लिए नए दिशानिर्देश लागू किए। नए दिशानिर्देशों के अनुसार, जयपुर में सरकार और निजी स्कूलों को 3 जनवरी से 9 जनवरी 2022 तक कक्षा 1 से 8 तक के लिए बंद कर दिया गया है। '

Haryana Corona Guideline

हरियाणा सरकार ने शनिवार को गुरुग्राम, फरीदाबाद, अंबाला, पंचकुला और सोनीपत सहित पांच जिलों में कई प्रतिबंधों की घोषणा की। ये पाबंदियां रविवार सुबह 5 बजे से लागू हो गई। पाबंदियां 12 जनवरी सुबह 5 बजे तक लागू रहेंगी। इन पांच जिलों के सभी सिनेमा हॉल, थिएटर, मल्टीप्लेक्स इन 10 दिनों तक बंद रहेंगे। खेल परिसर, स्वीमिंग पूल भी बंद रहेंगे। कार्यालय 50 फीसदी की उपस्थिति के साथ काम करेंगे जबकि मॉल और बाजारों को शाम पांच बजे तक खोलने की अनुमति है। सरकार के आदेश में कहा गया है कि बार और रेस्तरां को 50% बैठने की क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति है।

नाइट कर्फ्यू से साल की शुरुआत, अब लॉकडाउन की आशंका

अधिकांश राज्यों में पहले ही नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। न्यू ईयर की पार्टियों पर पाबंदी रही। जहां अनुमति थी, वहीं बहुत कम लोग जमा हो सकते थे। बहरहाल, नए साल का पहला महीना (Jan 2022) भी पाबंदियों के बीच गुजरेगा। महाराष्ट्र, दिल्ली उन बड़े राज्यों में शामिल हैं जहां लॉकडाउन लगाया जा सकता है। मुंबई में धारा 144 जारी रहेगी। माना जा रहा है कि संक्रमण रोकने के लिए नाइट कर्फ्यू बढ़ाया जाएगा।

कोरोना की रोकथाम, सख्त हुए राज्य

कोरोने के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से सतर्कता बरतने का आग्रह किया है। भारत में एक दिन में 10,000 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं जो 33 दिनों में सबसे अधिक है। सरकार ने इस बात पर जोर दिया है कि कोरोना वायरस के संक्रमण में वृद्धि को देखते हुए और अधिक सतर्कता बरतने की जरूरत है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 8 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में खतरे को लेकर आगाह किया है। ये राज्य हैं - दिल्ली, हरियाणा, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और झारखंड। वहीं अधिकांश राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है और लोगों से अपील की गई है कि वे घर में रहकर ही नया साल मनाएं। नाइट कर्फ्यू लगाने वाले नए राज्यों में हरियाणा और पुड्डुचेरी भी शामिल हो गए हैं।

देश के इन राज्यों में लगा नाइट कर्फ्यू (Night Curfew Guideline)

हरियाणा: गुरुग्राम एसीपी प्रीत पाल के अनुसार, हरियाणा सरकार के आदेश के अनुसार रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक रात का कर्फ्यू रहेगा और इसलिए आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य लोगों को बाहर घूमने की अनुमति नहीं होगी। हम लोगों से दिशानिर्देशों का पालन करने और अपने घरों में नए साल का जश्न मनाने का अनुरोध करते हैं।

दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी ने बढ़ते कोविड -19 मामलों और लगातार दो दिनों तक दैनिक सकारात्मकता 0.5% से ऊपर रहने के मद्देनजर 'येलो अलर्ट' जारी किया है। शहर के ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) के अनुसार, रात का कर्फ्यू लागू है। स्कूल, कॉलेज, सिनेमाघर और जिम बंद रहेंगे। शहर में सभी बड़े राजनीतिक और धार्मिक समारोहों पर भी प्रतिबंध रहेगा और रेस्तरां रात 10 बजे तक 50% क्षमता के साथ काम करेंगे।

पुडुचेरी: केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक रात का कर्फ्यू 31 जनवरी 2022 तक लागू किया गया है। वैकुंठ एकादशी के अवसर को छूट दी जाएगी।

कर्नाटक: राज्य में 7 जनवरी तक 10 दिन का रात का कर्फ्यू (रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक) है। एक आदेश के तहत, पब, रेस्तरां, होटल आदि में नए साल का जश्न नहीं होगा। सरकार ने बाहरी परिसर में भी किसी भी पार्टी के आयोजन पर प्रतिबंध लगा दिया है।

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में, सार्वजनिक स्थानों पर रात 9 बजे से सुबह 6 बजे के बीच पांच से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने की अनुमति नहीं है।

गोवा: पर्यटकों के लिए लोकप्रिय गोवा में महामारी के कारण कोई रात का कर्फ्यू नहीं है। हालांकि, राज्य के अंदर कार्यक्रमों में भाग लेने वालों के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट या पूरी तरह से टीकाकरण प्रमाण पत्र अनिवार्य है।

राजस्थान: राजस्थान में रात 11 बजे से सुबह 5 बजे के बीच रात का कर्फ्यू लगाया गया है और सार्वजनिक समारोहों में अधिकतम उपस्थिति 200 रखी गई है। इसके अलावा, राज्य सरकार भी सार्वजनिक स्थानों पर केवल टीकाकरण करने वालों को अनुमति देकर बिना टीकाकरण वाले लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित करने के लिए तैयार है।

तमिलनाडु: राज्य सरकार ने राज्य में समुद्र तटों पर सभी समारोहों पर प्रतिबंध लगा दिया है और जनता को घर के अंदर रहने और जिम्मेदारी से जश्न मनाने की सलाह दी है। राज्य ने जनता को किसी भी सार्वजनिक स्थान पर बड़े पैमाने पर भीड़ के खिलाफ भी सलाह दी है।

देश में ओमिक्रेन केस 1900 पार

भारत में ओमिक्रोन के मरीज तो तेजी से बढ़ ही रहे हैं, कोरोना का पिछले वेरिएंट एक बार फिर सिर उठाने लगा है। दिल्ली और महाराष्ट्र में उन राज्यो में शामिल हैं जहां सबसे ज्यादा केस आ रहे हैं। इसे ही कोरोने की तीसरी लहर करार दिया जा रहा है। देश में ओमिक्रोन की ताजा स्थिति यह है कि अभी 1900 से अधिक केस सामने आ चुके हैं। सबसे ज्यादा खतरा दिल्ली और महाराष्ट्र में है। सरकारों को एक बार फिर पाबंदियां लगाना पड़ रही हैं। प्रभावित राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगाई जा रही हैं।

दुनिया में कोरोना मरीजों की सुनामी, WHO ने जताई चिंता

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेबियस ने दुनिया भर में कोविड -19 मामलों में वृद्धि पर चिंता व्यक्त की। घेब्रेयसस ने कहा कि वह कोरोनो वायरस के ओमिक्रॉन और डेल्टा वेरिएंट के बारे में चिंतित हैं, जिनके कारण दुनिया में महामारी के नए मामलों की सुनामी आ गई है। डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में दर्ज किए गए कोविड-19 मामलों की संख्या में पिछले सप्ताह (20-26 दिसंबर) की तुलना में पिछले सप्ताह की तुलना में 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। भारत में भी दैनिक कोविड -19 मामलों में वृद्धि देखी जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटों में 9,195 ताजा कोविड -19 मामले दर्ज किए गए, जिससे सक्रिय मरीजों की संख्या 77,002 पहुंच गई है।

Happy New Year: Here’s the full list of guidelines

  • बीएमसी क्षेत्राधिकार के भीतर किसी भी बंद या खुली जगह में नया साल समारोह, पार्टियां या कोई अन्य गतिविधियां आयोजित नहीं की जाएंगी। सार्वजनिक स्थानों पर रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक समूह या पांच से अधिक लोगों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है।
  • शादी, सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक आयोजनों या समारोहों के लिए सीमित स्थानों में केवल 100 लोगों की अनुमति है। खुले स्थानों में 250 लोगों या क्षमता का 25%, जो भी कम हो, की अनुमति है।
  • स्थायी बैठने की व्यवस्था वाले स्थानों को अपनी क्षमता का 50% उपयोग करने की अनुमति है, जबकि अस्थायी बैठने की व्यवस्था वाले स्थानों में केवल 25% का उपयोग करने की अनुमति है।
  • सभी रेस्तरां, जिम, स्पा, सिनेमा, थिएटर केवल 50% क्षमता पर ही संचालित हो सकते हैं। ऐसे सभी प्रतिष्ठानों को स्वीकृत पूर्ण क्षमता और 50% क्षमता दोनों का उल्लेख करना चाहिए।
  • खेल/कार्यक्रम समारोहों के आयोजन स्थलों पर बैठने की क्षमता के केवल 25% की अनुमति है।
  • सभी पात्र नागरिकों को अपना कोविड-19 टीकाकरण पूरा करना चाहिए। सार्वजनिक स्थानों पर टीकाकरण करने वालों को ही अनुमति दी जाएगी।

देश के इन शहरों में खतरा

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि झारखंड के रांची, कर्नाटक के बेंगलुरु शहरी, हरियाणा के गुड़गांव, तमिलनाडु के चेन्नई, महाराष्ट्र के मुंबई, मुंबई उपनगरीय, पुणे, ठाणे और नागपुर और पश्चिम बंगाल के कोलकाता में भी पिछले दो हफ्तों में कोरोना मामलों में अचानक वृद्धि दर्ज की गई है।

यहां भी क्लिक करें: Night Curfew in 2022: देश के 8 राज्यों में नाइट कर्फ्यू, देखिए पूरी लिस्ट, जानिए टाइमिंग

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close