Lockdown in india । कोरोना की तीसरी लहर इन दिनों रोज भी भारी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। हालांकि दिल्ली में अब नए संक्रमित मामलों की संख्या में कमी आ रही है लेकिन फिर भी देश में 24 घंटे में दरमियान रोज ही 3 लाख से ज्यादा संक्रमित मामले निकल रहे हैं। ऐसे में लोगों के मन में सवाल है कि इतने ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले आने के बाद क्या अभी भी लॉकडाउन लगने की आशंका है या ओमिक्रोन वेरिएंट का खतरा कब तक बना रहेगा। ऐसे में सरकारी सूत्रों का कहना है कि ओमिक्रोन वेरिएंट की वजह से देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ गए हैं और उम्मीद है कि 15 फरवरी से कोविड-19 के मामले कम होने लगेंगे।

बड़ी आबादी का हो चुका है टीकाकरण

सरकारी सूत्रों का कहना है कि देश में बड़ी आबादी का कोरोना टीकाकरण हो चुका है और कोरोना की तीसरी लहर में कोविड-19 टीकाकरण से संक्रमण के संबंधित प्रभावों को कम करने में मदद मिली है। यही कारण थी कि कोरना संक्रमण की तीसरी लहर पहले आई लहरों की तुलना में काफी कम घातक थी।

समाचारी एजेंसी एएनआई को सरकारी सूत्रों ने जानकारी दी है कि कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के मामले बढ़ने से अस्पतालों में मरीजों की संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ, जिससे स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुईं, हालांकि, मौजूदा लहर में ऐसा देखने को नहीं मिला है। फिलहाल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ समन्वय कर काम कर रहा है। देश में 74 प्रतिशत वयस्क आबादी को कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीनेशन का काम हो चुका है।

बीते 24 घंटे में 306064 कोरोना संक्रमित

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को जानकारी दी है कि देश में बीते 24 घंटे में कोविड-19 संक्रमण के 306064 नए मामले दर्ज किए गए हैं। हालांकि बीते 4 दिनों के आंकड़े से 8 फीसदी कमी देखी गई है। 24 घंटे में देशभर में 439 मौतें हुई हैं, जो 5 दिनों में सबसे कम है। देश में फिलहाल कर्नाटक में सबसे ज्यादा 357826 एक्टिव केस हैं। दूसरी ओर, महाराष्ट्र (297115) और केरल (265349) तीसरे स्थान पर है।

Posted By: Sandeep Chourey