Maharashtra : देश में ओमिक्रॉन वेरियंट के दस्तक देने के बाद सभी राज्य सतर्क हो गये हैं। महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को प्रदेश में आनेवाले यात्रियों के लिए एक संशोधित गाइडलाइन्स जारी है। इसके मुताबिक भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस को लेकर जारी दिशानिर्देश तो हर हालत में लागू करने ही हैं, उसके अलावा भी कुछ नियम हैं, जिनका महाराष्ट्र में प्रवेश के दौरान पालन किया जाना आवश्यक है। महाराष्ट्र देश के उन दो राज्यों में शामिल हैं, जहां अब भी सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। इसके अलावा मुंबई एयरपोर्ट विदेश से आनेवाले यात्रियों के लिए मुख्य इन्ट्री प्वाइंट है। इसे देखते हुए राज्य सरकार ने कुछ कड़े नियम लागू करने का फैसला किया है।

नये गाइडलाइन्स में स्वास्थ्य मंत्रालय के आग्रह के मुताबिक कुछ फेरबदल किए गए हैं। अब घरेलू यात्रियों को या तो पूरी तरह वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दिखाना होगा या 72 घंटे पहले कराए गये RT-PCR रिपोर्ट। पहले टीका लगवा चुके यात्रियों को भी बिना RT-PCR रिपोर्ट के प्रवेश की अनुमति नहीं थी। ऐसे में संशोधित नियमों से घरेलू यात्रियों को यात्रा करने में बड़ी सुविधा मिलेगी।

बुधवार को जारी नियमों के मुताबिक मुंबई के हवाई अड्डों पर उतरने वाले सभी घरेलू यात्रियों की RTPCR जांच रिपोर्ट अनिवार्य कर दी गई थी, जो 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। इस पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य सरकार से इसके प्रावधानों पर दुबारा विचार का अनुरोध किया था, क्योंकि ये भारत सरकार के गाइडलाइन्स से अलग थे। इस नियम को अचानक लागू करने से कई यात्रियों को अपनी फ्लाइट कैंसल करनी पड़ती। इसके बाद गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने बताया कि सख्त दिशा-निर्देशों को टाल दिया गया है क्योंकि राज्य प्रशासन घरेलू और अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा के लिए दिशानिर्देशों का एक नया प्रारूप तैयार कर रहा है। लेकिन उन्होंने पहले ही साफ कर दिया कि केवल घरेलू हवाई यात्रियों के लिए दिशानिर्देशों में बदलाव किया जाएगा।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close