नई दिल्ली। जहां एक तरफ देश में गर्मियों की शुरुआत हो चुकी है वहीं मौसम की भविष्यवाणी करने वाली एक कंपनी ने देश में आने वाले मानसून की भविष्यवाणी कर दी है। इसमें दावा किया गया है कि इस साल का मानसून धमाकेदार होगा और जमकर पानी बरसेगा। मौसम की भविष्यवाणी करने वाली एक निजी कंपनी का दावा है कि इस साल मानसून सामान्य से ज्यादा होगा और जरूरत से ज्यादा बरसात होगी। देश में ऐसा मौसम ला नीना की स्थितियों के कारण होगा।

मौसम की भविष्यवाणी करने वाले आईबीएम के इस उपक्रम ने गुरुवार को घोषणा की कि मानसून वर्ष 2020 में केरल में तय समय से एक दिन पहले यानी 31 मई को ही दाखिल हो सकता है। अगर यह भविष्यवाणी सही हुई तो भारत में लगातार दूसरे साल सामान्य से अधिक वर्षा होगी। भविष्यवाणी के मुताबिक यह बात एकदम पक्की है कि इस साल सामान्य से अधिक बरसात होनी है। 105 फीसद ऐसा होना है। लेकिन अगली भविष्यवाणी तक मानसून की तीव्रता और बढ़ने का अनुमान है।

अप्रैल की शुरुआत में जो डाटा मिलेगा उससे आगे की तस्वीर और साफ होगी। मानसून की अवधि के दौरान कमजोर अलनीनो से ला नीना के हालात बन सकते हैं। इससे वातावरण में व्यापक पैटर्न बनेगा। इससे मानसून के आखिर में होने वाली बरसात और जमकर होगी। अगर हिंद महासागर का जल क्षेत्र ठंडा रहा तो पिछले साल की ही तरह इस साल भी 110 फीसद बारिश हो सकती है। भारतीय मौसम विज्ञान संस्थान इस माह के अंत में मानसून की भविष्यवाणी करेगा।

उल्लेखनीय है कि अलनीनो का क्रम प्रशांत महासागर का पानी गरम होने से होता है। समझा जाता है कि यह भारतीय मानसून पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। वहीं, ला नीना का चक्र अलनीनो से एकदम अलग है। मानसून के संदभ में इसे भारतीय उपमहाद्वीप के लिए अच्छा माना जाता है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना