महाराष्ट्र में कल शाम से ही लगातार बारिश हो रही है, और कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। रत्नागिरी के चिपलुन इलाके में लगातार हो रही बारिश के बाद वशिष्ठ नदी पुल का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है। यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस खंड पर ट्रेन सेवाएं अस्थायी तौर पर निलंबित कर दी गई हैं। इसकी वजह से कोंकण रेल मार्ग पर 5,500-6,000 यात्री ट्रेनों में फंस गए हैं। कोंकण रेलवे ने बताया कि चिपलून में बाढ़ की स्थिति के कारण नौ ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया, उन्हें गंतव्य से पहले रोका गया है या रद्द कर दिया गया है। इस वजह से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

उधर हलात बिगड़ते देख नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (NDRF) की दो टीमें कोल्हापुर में पहुंच गई हैं और राहत और बचाव के कार्यों में जुट गई हैं। एक टीम को करवीर तहसील में भेजा गया है, जबकि दूसरी टीम को सिरोल भेजा गया है। इन दोनों जगहों पर बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है और लोगों को निकालना जरुरी हो गया है।

उधर हालात की गंभीरता को समझते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आपात बैठक बुलाई और पिछले 24 घंटे से हो रही बारिश की वजह से बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने संबंधित विभागों और NDRF को तैयार रहने और बचाव कार्य तेज करने का निर्देश दिया है। प्रदेश में खास तौर पर रत्नागिरी और रायगढ़ जिले में स्थिति ज्यादा खराब है।

Maharashtra CM Uddhav Thackeray held emergency meeting to take stock of flood situation in Ratnagiri & Raigad districts caused due to torrential rains in the last 24 hours. He has directed Disaster Management units & departments concerned to stay vigilant & start rescue ops: CMO

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags