पूर्व राष्ट्रपति Pranab Mukherjee की हालत स्थिर बनी हुई है। ब्लड क्लॉटिंग होने के बाद उनकी ब्रेन सर्जरी हुई थी, जिसके बाद से वे वेंटिलेटर पर हैं। गुरुवार सुबह Pranab Mukherjee के निधन की झूठी खबर वायरल हो गई, जिसके बाद उनके बेटे अभिजीत और बेटी शर्मिष्ठा ने इन खबरों का खंडन किया।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने ट्वीट करते हुए लिखा, मेरे पिता के बारे में फैलाई जा रही अफवाहें झूठी हैं। विशेष रूप से मीडिया से अनुरोध है कि मुझे कॉल नहीं करें क्योंकि मुझे अस्पताल में किसी भी अपडेट के लिए अपने फोन को फ्री रखने की आवश्यकता है।

प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर अपने पिता के निधन की खबर का खंडन किया। उन्होंने लिखा, मेरे पिता प्रणब मुखर्जी अभी भी जीवित हैं और हेमोडायनामिक रूप से स्थिर हैं। प्रतिष्ठित पत्रकारों द्वारा मीडिया में प्रसारित की जा रही अटकलों और फर्जी खबरों से साफ जाहिर होता है कि भारत में मीडिया फेक न्यूज का कारखाना बन गया है।

भारत रत्न से सम्मानित 84 वर्षीय प्रणब मुखर्जी को मस्तिष्क में खून का थक्का जमने के कारण 10 अगस्त को दोपहर 12 बजे आर्मी अस्पताल में भर्ती किया गया था। ऑपरेशन से पहले हुई जांच में उन्हें कोरोना संक्रमित पाया गया। इसके बाद ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के बाद से ही उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम उनकी हालत पर नजर बनाए हुए है।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020