श्रीनगर। आतंकियों के साथ गठजोड़ के आरोप में पकड़े गए डीएसपी देविंदर सिह के ढाका कनेक्शन की भी जांच की जाएगी। डीएसपी देविंदर सिंह वहां सिर्फ अपनी बेटियों की पढ़ाई के सिलसिले में जाता था या वहां पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी (आईएसआई) के एजेंटों से भी मिलता था। यह सभी पहलू एनआईए की जांच का हिस्सा होंगे।इस बात का दावा राज्य पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिह ने किया है। डीएसपी देविंदर सिंह को कुछ दिन पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर हिजबुल के कुख्यात आतंकी नवीद बाबू, आतिफ उर्फ आसिफ और लश्कर के ओवरग्राउंड वर्कर के साथ पकड़ा था। इसके तत्काल बाद डीएसपी को निलंबित कर दिया गया था। अब देविदर सिह को लेकर रोज नए खुलासे हो रहे हैं।

श्रीनगर में सोमवार को पत्रकारों से बात करते हुए डीजीपी ने कहा कि अब एनआईए ने इस मामले की जांच का जिम्मा संभाल लिया है। वह विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच कर रही है। हमने देविदर सिह के साथी आतंकियों से पूछताछ के आधार पर दो आतंकी ठिकानों को तबाह किया हैं। इसके साथ ही देविदंर सिह के मामले में पुलिस विभाग द्वारा एक आंतरिक विभागीय जांच भी की जा रही है। उन्होंने कहा कि अब एनआइए सारे मामले की जांच कर रही है, इसलिए मेरा इस विषय में ज्यादा बातचीत करना उचित नहीं है। कुछ नए और अहम खुलासे हुए हैं, उनकी जांच एनआईए कर रही है और जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही है। देविदर सिह के बांग्लादेश कनेक्शन को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने बताया कि उसकी बेटियां वहां पढ़ती थीं और वह उनसे मिलने के लिए वहां-जाता रहा है। हमारे पास अभी तक यही जानकारी है। अब इससे आगे भी वहां उसके तार किसी अन्य गतिविधि से जुड़े थे या नहीं, यह भी जांच की जा रही है।

इस बीच, सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों को संदेह है कि देविदर सिह बांग्लादेश की राजधानी ढाका में कई बार जा चुका है। इसलिए इस बात की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता कि वह आईएसआई के एजेंटों से मिला होगा। इसके अलावा जम्मू कश्मीर में सक्रिय कई आतंकी व जिहादी संगठनों का नेटवर्क भी बांग्लादेश में है। बांग्लादेश में उसकी बेटियों की एमबीबीएस की पढ़ाई को आईएसआई द्वारा फंड दिए जाने की आशंका को भी नकारा नहीं जा सकता। इसलिए एनआइए इस पहलू को ध्यान में रखते हुए भी जांच कर रही है।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket