नई दिल्ली : निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज का प्रमुख मौलाना साद और अन्य की गिरफ्तारी क्राइम ब्रांच के लिए बड़ी चुनौती बनती जा रही है। सूत्रों के अनुसार साद दिल्ली से बाहर निकल चुका है। आशंका जताई जा रही है कि अब वह मेवात में छिपा है, जो उसका गढ़ भी है।क्राइम ब्रांच ने मौलाना मुहम्मद साद, मुहम्मद अशरफ, मुफ्ती शहजाद, डॉ. जीशान, मुर्शलीन सैफी, मुहम्मद सलमान व यूनुस के खिलाफ आपराधिक षड्यंत्र सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। ये सभी आरोपित 28 मार्च को ही मरकज से फरार होने में कामयाब रहे थे। क्राइम ब्रांच लगातार इनके ठिकाने की तलाश कर है, लेकिन अभी तक कोई खास सफलता नहीं मिली है।

इससे पहले साद का एक वीडियो वायरल होने के बाद उसके दिल्ली में ही छिपे होने का अनुमान लगाया गया था। पुलिस सूत्रों के मुतााबिक साद मेवात पहुंच गया है, जो उसका मजबूत गढ़ माना जाता है। यह भी दावा किया जा रहा है कि अपनी विफलता को छिपाने के लिए ही पुलिस कोरोना संक्रमण के कारण उसको गिरफ्तार नहीं करने की बात कर रही है। हालांकि हकीकत यह है कि एक सप्ताह से अधिक समय बीत जाने के बावजूद पुलिस उसके ठिकाने का ही पता नहीं लगा पाई है और लगातार अंधेरे में ही हाथ पैर मार रही है।

मुस्लिम संगठनों के मना करने के बावजूद किया कार्यक्रम

मरकज में आयोजित कार्यक्रम को लेकर क्राइम ब्रांच को काफी चौंकाने वाली जानकारी मिली है। सूत्रों के अनुसार मौलाना साद को मुस्लिम संगठनों ने कार्यक्रम का आयोजित करने से मना किया था। कोरोना के संक्रमण के खतरे से भी उसको आगाह किया गया था। इसके बावजूद उसने एक दिन के कार्यक्रम को न सिर्फ एक दिन और बढ़ाया, बल्कि देश-विदेश से हजारों लोगों को आमंत्रित भी किया। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि कहीं किसी बड़ी साजिश के तहत यह कार्यक्रम तो आयोजित नहीं किया गया था। हालांकि, असली बात तो साद और उसके साथियों की गिरफ्तारी के बाद ही पतै चलेगी।

क्राइम ब्रांच ने सोमवार को मौलाना मुहम्मद साद को दूसरी बार नोटिस भेजकर कुछ सवालों के जवाब मांगे हैं। पांच दिन पहले भी क्राइम ब्रांच ने साद और प्रबंधन से जुड़े मौलानाओं को नोटिस भेजा था। इसमें 26 सवालों के जवाब मांगे गए थे। मरकज की आय-व्यय का ब्योरा सहित आने जाने वालों की जानकारी व कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग आदि की जानकारी मांगी गई थी। साद के अधिवक्ता ने कहा था कि लॉकडाउन के कारण जवाब देने में कुछ वक्त लगेगा।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना