नई दिल्ली। हाल ही में LPG सिलेंडर्स के दाम में हुई रातोंरात बढ़ोतरी के बाद अब आपकी जेब और किचन का बोझ और बढ़ सकता है। खबर है कि अब उपभोक्ताओं को सब्सिडी वाले गैस (LPG) सिलेंडर पर पहले से ज्यादा दाम चुकाने पड़ सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि सरकार सब्सिडी के बोझ को कम करने के लिए पेट्रोलियम कंपनियों को हर महीने एलपीजी सिलेंडर के दाम में इजाफा करने की इजाजत देने पर विचार कर रही है। हालांकि अभी बढ़ाई जाने वाली राशि तय नहीं की गई है। लेकिन यह फैसला होता है तो हर महीने 4-5 रुपए प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी हो सकती है। फिलहाल इस जानकारी को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है लेकिन फरवरी में ही बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत में 145 रुपए की बढ़ोतरी के बाद इसकी आशंका बढ़ती नजर आ रही है।

इससे पहले 2016-17 में सार्वजनिक ऑयल कंपनियां ऐसा कर चुकी हैं। लेकिन विरोध और उज्ज्वला योजना के साथ मेल नहीं खाने के चलते अक्टूबर, 2017 में इसे वापस ले लिया गया था। सूत्रों के मुताबिक एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी दोगुनी होने की वजह से बोझ काफी बढ़ गया है, इससे सिलेंडर का दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है। अगर एलपीजी के दाम इसी तरह बने रहे, तो इस पर दी जाने वाली सब्सिडी बजट में आवंटित 35,605 करोड़ रुपए से ऊपर निकल जाएगी।

हालांकि, फिलहाल इस सब को लेकर सरकार की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई है लेकिन मीडिया में सरकारी अधिकारियों के हवाले से दी जा रही खबरों के अनुसार, घरेलु गैस की कीमतों की समीक्षा इस साल ज्यादा जरूरी हो गई है क्योंकि हर सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी दोगुने स्तर पर पहुंच गई है। इसकी वजह से केंद्र सरकार का सब्सिडी बिल 35,605 करोड़ तक जाएगा जो बजट में अनुमानित है।

बता दें कि इसी महीने की 11 तारीख को तेल कंपनियों ने बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर के दामों में अचानक ही 144.50 रुपए की बढ़ोतर कर दी थी। इसके बाद इसके दाम तेजी से बढ़ते हुए 858.50 रुपए के स्तर पर पहुंच गए थे।

Posted By: Ajay Barve