नई दिल्ली। Online Fraud : आज कल भुगतान करने में आसानी होने के कारण, क्रेडिट कार्ड या ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं। मगर, अपने बैंक खाते की सुरक्षा का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है। चालबाज हमेशा पीड़ित की व्यक्तिगत जानकारी तक अनधिकृत पहुंच प्राप्त करने के लिए उन कमियों की तलाश करते हैं, जिनके जरिये वे आपके खाते से पैसे उड़ा सकें।

हर दिन हमें ऐसे कई मामले देखने और सुनने को मिलते हैं, जहां धोखेबाज कार्ड क्लोनिंग, स्किमिंग, फिशिंग और विशिंग के जरिये वित्तीय अपराध को अंजाम देने में कामयाब हो जाते हैं। ज्यादातर मामलों में धोखेबाजों को आपके मोबाइल फोन तक पहुंच मिलती है, जिससे वित्तीय धोखाधड़ी की आशंका बढ़ जाती है।

ई-मेल को ध्यान से देखें

इसके लिए चालबाज संवेदनशील जानकारी जैसे क्रेडिट कार्ड का नंबर, पिन अदि की जानकारी या बैंक खाते की जानकारी हासिल करने की कोशिश करते हैं। कई बार वे आपको एक मेल भेजते हैं और फिर आपको एक फिशिंग मेल भेजते हैं। भेजे गए मेल आपको वेबसाइट पर निर्देशित करेंगे और आपसे अपना लॉगिन और पासवर्ड दर्ज करने का अनुरोध करेंगे। आपको असली और मेल को पहचानना सीखना चाहिए। चालबाजों के भेजे गए लिंक पर क्लिक न करें। यदि आपको कोई व्याकरण या वर्तनी (स्पेलिंग) संबंधी गलतियां मिलती हैं, तो सतर्क हो जाएं। यदि वह आपकी व्यक्तिगत जानकारी मांग रहा है, तो इसका जवाब न दें। अपने बैंक को कॉल करें और पूछें कि उन्होंने वह मेल आपको भेजा है।

फोन पर या एसएमएस पर कोई जानकारी न दें

यदि आपकी गोपनीय जानकारी हासिल करने के लिए चालबाज ने एसएमएस भेजा है, तो सतर्क रहें क्योंकि यह धोखाधड़ी का दूसरा रूप हो सकता है जिसे विशिंग (Vishing) कहा जाता है। यह मूल रूप से वॉयस फिशिंग है, जिसमें धोखेबाज फोन पर आपकी व्यक्तिगत और गोपनीय जानकारी जैसे पासवर्ड, व्यक्तिगत पहचान संख्या (पिन), सीवीवी और ओटीपी हासिल करने की कोशिश करता है। जैसे ईमेल में फिशिंग पर होती है, वैसे ही फोन पर वैशिंग होती है। आप कॉल पर अपना पिन, पासवर्ड, ओटीपी कभी साझा नहीं करें। आपका बैंक कभी भी इस तरह की जानकारी नहीं मांगता है। इसलिए, ऐसे कॉल और संदेश मिलने पर तुरंत सतर्क हो जाएं।

एटीएम में इन बातों का रखें ध्यान

एटीएम से लेन-देन करते समय मशीन के बारे में सावधान रहें। जालसाज मशीन पर एक स्किमर डिवाइस लगाते हैं, जो कार्ड की मैग्नेटिक पट्टी पर संग्रहीत जानकारी को पढ़ने, स्कैन करने और कॉपी करने में सक्षम है। आमतौर पर स्किमर को एटीएम के स्लॉट या मर्चेंट पेमेंट टर्मिनलों से जोड़ा जाता है। हमेशा एकांत क्षेत्रों में स्थित एटीएम का उपयोग करने से बचना चाहिए। लेन-देन करते समय, यदि आपको कोई असामान्य गतिविधि मिलती है, तो उस मशीन के स्लॉट की जांच करें जहां से नकदी निकलती है। इसके अलावा कोई भी भुगतान करते समय स्वाइप मशीन पर अटैचमेंट की जांच करें।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan